पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

छत्तीसगढ़ में एक साल में 12 हाथियों की मौत:​​​​​​​सूरजपुर में नर दंतैल हाथी का मिला सड़ा-गला शव, 10 से 12 दिन पहले मरने की आशंका; अफसर बोले- अंदरूनी क्षेत्र, इसलिए पता नहीं चला

सूरजपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छत्तीसगढ़ में एक साल के दौरान 12 हाथियों की मौत हो चुकी है। साल 2020 के सिर्फ 4 माह में ही 11 हाथियों ने दम तोड़ा था। इनमें कई का शिकार किया गया था। - Dainik Bhaskar
छत्तीसगढ़ में एक साल के दौरान 12 हाथियों की मौत हो चुकी है। साल 2020 के सिर्फ 4 माह में ही 11 हाथियों ने दम तोड़ा था। इनमें कई का शिकार किया गया था।

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर में शुक्रवार को एक नर दंतैल (टस्कर) हाथी का शव मिला है। शव सड़ी-गली हालत में था। आशंका है कि उसकी मौत करीब 10 से 12 दिन पहले हुई होगी। सूचना मिलने के बाद वन विभाग का अमला मौके पर पहुंच गया है। हाथी की मौत का कारण पोस्टमार्टम के बाद ही स्पष्ट होगा। प्रदेश में एक साल के दौरान 12 हाथियों की मौत हो चुकी है। अफसरों का कहना है कि हाथी किस दल का है, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है।

हाथी की उम्र करीब 20 से 25 साल के बीच बताई जा रही है। हर बार की तरह चरवाहे से ही विभाग को हाथी के शव की जानकारी मिली। अफसरों का कहना है कि अंदरूनी क्षेत्र के चलते पता नहीं चला।
हाथी की उम्र करीब 20 से 25 साल के बीच बताई जा रही है। हर बार की तरह चरवाहे से ही विभाग को हाथी के शव की जानकारी मिली। अफसरों का कहना है कि अंदरूनी क्षेत्र के चलते पता नहीं चला।

जानकारी के मुताबिक, प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के दरहोरा बीट के कक्ष क्रमांक 101 में नर हाथी का शव पड़े होने की सूचना वन विभाग को मिली थी। यह इलाका असनापारा व पकनी के बीच के जंगल के क्षेत्र का बताया जा रहा है। हाथी की उम्र करीब 20 से 25 साल के बीच बताई जा रही है। हर बार की तरह चरवाहे से ही विभाग को हाथी के शव की जानकारी मिली। अफसरों का कहना है कि अंदरूनी क्षेत्र के चलते पता नहीं चला।

साल 2020 के 4 माह में 11 हाथियों की हुई थी मौत

  • 26 सितंबर : महासमुंद के पिथौरा में संदिग्ध हालत में हाथी की मौत
  • 23 सितंबर : रायगढ़ में धरमजयगढ़ के मेंढरमार में करंट लगने से हाथी की मौत
  • 16 अगस्त : सूरजपुर में जहरीला पदार्थ खाने से नर हाथी की मौत
  • 24 जुलाई : जशपुर में करंट लगाकर नर हाथी को मारा गया
  • 9 जुलाई : कोरबा में 8 साल के नर हाथी की इलाज के दौरान मौत
  • 18 जून : रायगढ़ के धरमजयगढ़ में करंट से हाथी की मौत
  • 16 जून : रायगढ़ के धरमजयगढ़ में करंट से हाथी की मौत
  • 15 जून : धमतरी में माडमसिल्ली के जंगल में कीचड़ में फंसने से हाथी के बच्चे ने दम तोड़ा।
  • 11 जून : बलरामपुर के अतौरी में मादा हाथी की मौत हुई थी
  • 9 व 10 जून : सूरजपुर के प्रतापपुर में एक गर्भवती हथिनी सहित 2 मादा हाथियों की मौत हुई।

हाथियों की मॉनिटिरंग को लेकर फिर घेरे में वन विभाग
प्रतापपुर रेंजर पीसी मिश्रा नें बताया की वे घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। हाथी नर दंतैल है और उम्र 20-25 वर्ष के बीच की है। शव को देखकर लगता है कि हाथी की मौत 10-12 दिन पहले हुई है। उनका कहना है कि घटना स्थल काफी अंदर है। ऐसे में वन विभाग को इसके बारे में पता नहीं चल सका। एक ग्रामीण पहुंचा तो उसने हाथी का शव पड़ा होने की सूचना दी। फिलहाल हाथी को लेकर जानकारी जुटा रहे हैं। संभवत: वह किसी अन्य परिक्षेत्र से पहुंचा था।

खबरें और भी हैं...