नहाने गई दो सहेलियों की डूबने से मौत:बलरामपुर जिले में 6वीं की छात्राएं सुबह गांव के पास बने बांध पर गई थीं, दो घंटे बाद मिले दोनों के शव

बलरामपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम परिवार से मिलने पहुंचे थे। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम परिवार से मिलने पहुंचे थे।

बलरामपुर जिले में 2 सहेलियों की बांध में नहाने के दौरान डूबने से मौत हो गई है। दोनों सुबह नहाने के लिए घर से निकली थीं। घर वालों को इस बात की जानकारी तब लगी, जब बांध में ही नहा रहे दूसरे बच्चों ने उन्हें बताया। गांव के तैराकों की मदद से दोनों के शव को 2 घंटे की मशक्कत के बाद निकाला जा सका। घटना के बाद से ही पूरे गांव में मातम पसर गया है।

ये मामला जिले के रामचंद्रपुर विकासखंड के कुशफर गांव का है। दोनों सहेलियां सुबह 11 बजे घर से नहाने के लिए निकली थीं। गांव के लोग अमूमन वहीं निस्तार और नहाने के लिए जाते हैं। दोनों एक ही स्कूल में कक्षा 6वीं की छात्राएं थीं। दोनों साथ रहती थीं। आज भी उर्मिला (12) पिता जय सिंह, सहेली रिंकी (13) पिता दयाशंकर साथ घर से करीब आधा किलोमीटर दूरी पर स्थित पुराने बांध में नहाने गई थीं। इसी दौरान नहाते-नहाते दोनों गहराई में चली गईं और दोनों की मौत हो गई। वहां नहा रहे अन्य बच्चों ने दोनों को डूबते देखा और इसकी सूचना परिजनों को दी, जिसके बाद तत्काल परिजन व ग्रामवासी मौके पर पहुंचे। वहां बच्चियां नहीं थीं। गोताखोरों को बुलाया गया। जहां दूसरे लोगों ने बच्चियों को देखा था, वहां खोज शुरू की गई। बांध पुराना है, लिहाजा यहां के पानी में बहाव नहीं है, फिर भी शव की तलाश करने में गोताखोरों को 2 घंटे लग गए। छात्राओं का शव देखते ही गांव में मातम छा गया।

राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम मिलने पहुंचे

रामानुजगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में रविवार की शाम को ही शव का पोस्टमॉर्टम करा परिजनों को सौंप दिया गया। पूरी घटना के बाद से ही परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। इधर, खबर लगते ही राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम शोक संतप्त परिवार के घर पहुंचे और परिवार के लोगों का ढांढस बंधाया। इस दौरान क्षेत्र के और भी जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...