BEO ने टीचर्स के ग्रुप में डाला अश्लील वीडियो:3 मिनट बाद कर दिया डिलीट, कहा- मेरा मोबाइल किसी और के पास था, स्कूल नहीं आने वाले टीचर्स मुझे फंसा रहे; सस्पेंड

नारायणपुर/जगदलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में पदस्थ BEO ने पहले तो टीचर्स के वॉट्सऐप ग्रुप में अश्लील वीडियो डाल दिया। 3 मिनट बाद वीडियो डिलीट कर ग्रुप में कहा कि मेरा फोन किसी और के पास था। मामला जब अधिकारियों के पास पहुंचा तब BEO ने स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा है कि मुझे कुछ टीचर्स फंसा रहे हैं। इस मामले की शिकायत सर्व शिक्षक संघ ने कलेक्टर, एसडीएम, संयुक्त संचालक बस्तर और DEO से भी की है।

दरअसल, नारायणपुर जिले में पदस्थ ब्लॉक शिक्षा अधिकारी खेमेश्वर पाणीग्रही ने 15 सितंबर को ये वीडियो स्कूल एजुकेशन के ग्रुप में डाला था। ग्रुप के कुछ लोगों ने उस वीडियो का स्क्रीनशॉट ले लिया था और सक्रीनशॉट भी जमकर वायरल होने लगा था। इसी वजह से ये मामला अधिकारियों तक पहुंच गया। इसके बाद कमिशनर जीआर चुरेंद्र ने बीईओ को निलंबत कर दिया है।

इस तरह का वीडियो ग्रुप में डाला गया था।
इस तरह का वीडियो ग्रुप में डाला गया था।

बीईओ बोले-मेरा कोई कसूर नहीं
जैसे ही मामला अधिकारियों तक पहुंचा तो खेमेश्वर ने एक स्पष्टीकरण जारी किया। स्पष्टीकरण में खेमेश्वर ने कहा है कि घटना के समय वह संयुक्त संचालक, शिक्षा संभाग के अधिकारियों के साथ खाना खा रहे थे। फिर कुछ देर के लिए वो शौचालय गए थे। तभी इस वीडियो को ग्रुप में डाला गया है। उन्होंने कहा कि मेरा कोई कसूर नहीं है। मुझे स्कूल नहीं आने वाले कुछ टीचर्स फंसा रहे हैं। मेरे खिलाफ शिक्षकों ने साजिश रची है।

BEO ने 23 सितंबर को इस तरह का एक पत्र जारी कर स्पष्टीकरण दिया है।
BEO ने 23 सितंबर को इस तरह का एक पत्र जारी कर स्पष्टीकरण दिया है।

इधर, जैसे ही BEO ने मामले में स्पष्टीकरण जारी किया और शिक्षकों पर आरोप लगाया। वैसे ही सर्व शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विवेक दुबे ने पूरे मामले की शिकायत कलेक्टर, SDM, संयुक्त संचालक बस्तर और DEO से कर दी है। इसमें कहा गया- BEO खुद अपने मोबाइल में ऐसी अश्लील सामग्री रखते हैं और जब अनजाने में यह वायरल हो गया तो इसका ठीकरा दूसरों के सर फोड़ने की कोशिश हो रही है। ये पूरी तरह से गलत है। इस पर कार्रवाई होनी ही चाहिए।

खबरें और भी हैं...