पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्रह-नक्षत्र:मस्तिष्क और ब्लड प्रेशर की समस्याओं से मिलेगी मुक्ति, इस संक्रांति पर सूर्य देव की तिल से करें पूजा

रायपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मकर संक्रांति गुरुवार को है। इस दिन सुबह 8.13 बजे सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करते ही सूर्य उत्तरायण का हो जाएगा। अर्थात सूर्य पृथ्वी के उत्तरी भाग में अपना अधिकाधिक प्रकाश उत्सर्जित करेगा। ऐसी स्थिति 5 माह तक बनी रहेगी और उसके बाद मई में कर्क राशि में प्रवेश करते ही सूर्य दक्षिणायन का हाे जाएगा। मुहूर्त चिंतामणी ग्रंथ के अनुसार जब सूर्य सुबह मकर राशि में प्रवेश करता है तो 16 दंड यानी लगभग 384 मिनट का पूण्य काल होता है। यानी सुबह 8.53 बजे से 12.30 बजे तक तक पूण्यकाल रहेगा। सूर्य का यह संक्रमण शुक्र प्रधान पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में और शोभन योग में हो रहा है जो की सभी के लिए अत्यंत लाभप्रद है। मुहूर्त चिंतामणी ग्रंथ के अनुसार दिन के करण के आधार पर मकर संक्रांति की सवारी, वर्ण, स्वरूप इत्यादि का निर्धारण किया जाता है। इस दिन बवकरण है।

सूर्य संबंधी दोषों से होंगे आप मुक्त
सूर्य संबंधी दोषों के समाधान के लिये यह संक्रांति अत्यंत कारक समय होगा। यदि आप रक्त, संतान, मस्तिष्क संबंधी समस्या या उच्च रक्तचाप से परेशान है, तो यह लक्षण है, कि आप की कुंडली में सूर्य या तो नीच का होकर तुला राशि में स्थित है या वृषभ, धनु या मीन राशि में है।
उपाय: स्वास्थ्य संबंधी इन समस्याओं के समाधान के लिए बुधवार 15 तारीख को प्रात: काल एक तांबे के पात्र में जल लेकर उस में कुंकुम, शक्कर और एक बेलपत्र डालें। इसके साथ मंत्र पढ़ते हुए सूर्य को सात बार जल दें। प्रत्येक रविवार को सूर्य को इसी तरह जल दें।
मंत्र: नमो नम: सहस्रांशु आदित्याया नमो नम: ह्रीं सूर्याय नम:।।
तिल, लाल वस्त्र, हरे फल और शक्कर या गुड़ का दान करें।
मंत्र जाप और दान का पर्व आपको लाभ देगा। राशियों के अनुसार सफेद तिल के साथ निम्न मंत्रों का जाप करने के बाद निर्दिष्ट सामग्रियों का दान किया जाये तो ग्रह दशा अनुकूल होगी।

मेष: मई माह में विशेष लाभ होने की संभावना है। प्रगति को लेकर चिंताएं दूर होंगी।
मंत्र: ऊँ रवये नम:।।
दान सामग्री- गुड़

वृषभ: स्वास्थ्य संबंधी चिंता हो सकती है। कार्य प्रभावित हो सकते है।
मंत्र: ऊँ मित्राय नम:।।
दान सामग्री- शक्कर

मिथुन: उत्साह व उर्जा को बनाए रखने में सहायक हो सकता है।
मंत्र: ऊँ खगाय नम:।।
दान सामग्री- सिंघाडा, नरियल

कर्क: व्यवसायिक क्षेत्र में धन की उपलब्धता बनी रहेगी।
मंत्र: जय भद्राय नम:।।
दान सामग्री- दूध और चावल

सिंह: आर्थिक स्थिति को सुदृढ करके के लिए आप ज्यादा प्रयास कर सकते है।

मंत्र: ऊँ भास्कराय नम:।।
दान सामग्री- अनार

कन्या: आय के क्षेत्र में उतार चढ़ाव अधिक होंगे, लेकिन लाभ होगा।
मंत्र: ऊँ भानवे नम:।।
दान समग्री- हरे फल

तुला: इस दांपत्य जीवन में तनाव की स्थिति बनी रह सकती है।
मंत्र: ऊँ पुष्णे नम:।।
दान सामग्री- चावल, खट्टे फल

वृश्चिक: परिवार की समस्याओं को सुलझाने में व्यस्त रह सकते हैं।
मंत्र: ऊँ सूर्याय नम:।।
दान सामग्री- दूध और गुड़

धनु: जीवन साथी के साथ समय व्यतीत करने के अवसर प्राप्त हो सकते है।
मंत्र: ऊँ आदित्याय नम:।।
दान सामग्री- चना दाल, गुड़

मकर: माता के स्वास्थ्य को लेकर चिंता बढ़ सकती है।
मंत्र: ऊँ मरीचये नम:।।
दान सामग्री- मुंगफल्ली

कुंभ: बुद्धिमता से परिवार की सुख-शांति को बनाए रखने का प्रयास करें।
मंत्र: ऊँ सवित्रे नम:।।
दान सामग्री- शक्कर, उड़द दाल

मीन: परिवार में किसी नए सदस्य के शामिल होने के योग बन रहे हैं।
मंत्र: ऊँ अर्काय नम:।।
दान सामग्री- बेसन की मिठाई

"सूर्य से संबंधित दोषों के समाधान के लिए मकर संक्रांति का समय अत्यंत कारक होगा। यदि आप रक्त, संतान, मस्तिष्क और उच्च रक्तचाप से परेशान हैं। ऐसे में मंत्रों के साथ सूर्य को जल दें।" - ज्योतिषाचार्य डॉ. दत्तात्रेय होस्केरे

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें