विभाग मौन:उद्यान विभाग का ऑफिस जर्जर, टॉयलेट भी नहीं

अंकिरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उद्यान कार्यालय की जर्जर छत - Dainik Bhaskar
उद्यान कार्यालय की जर्जर छत

पंडरीपानी के उद्यान विभाग के कार्यालय में शौचालय भवन नहीं होने से यहां के कर्मचारियों को परेशानी हो रही है। स्वच्छता के नाम पर गांव-गांव, घर-घर शौचालय का निर्माण किया है पर अभी भी कई शासकीय कार्यालय शौचालयविहीन हैं। धान बिक्री के बाद किसानों का आना-जाना कार्यालय में होगा।

इस कार्यालय से आसपास के 56 गांव के हजारों किसान जुड़े हैं,जो खरीफ की खेती के बाद बागवानी करते हैं। बागवानी से संबंधित सलाह, सरकारी योजनाओं की जानकारी व लाभ लेने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां पहुंचते हैं। पूरे परिसर में कहीं भी शौचालय नहीं होने से बाहर से पहुंचे लोगों को भी दिक्कत हाेती है। यहां पदस्थ कर्मचारियों का कहना है कि शौचालय को लेकर वे विधायक से लेकर सांसद तक मांग रख चुके हैं। पर अबतक कुछ नहीं हो पाया।

छत से गिर रहा प्लास्टर झांक रही सरिया
किसानों के लिए अहम इस कार्यालय भवन की स्थिति भी बेहद जर्जर हो चुकी है। छत के प्लास्टर गिर रहे हैं और भवन को मरम्मत की जरूरत है। इसके लिए भी विभागीय कर्मचारियों ने कई बार विभागीय अधिकारी व जनप्रतिनिधियों को पत्र लिखा है।

कोई फंड नहीं मिला
जर्जर भवन व शौचालय नहीं होने के संबंध में विभागीय अधिकारियों को पत्र लिखा गया है। हमारे यहां कोई फंड नहीं है जिससे मरम्मत व निर्माण कार्य हो सकें।''
-एसपी राठिया, उद्यान अधीक्षक।

खबरें और भी हैं...