पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तेंदूपत्ता खरीदी:एक से शुरुआत, आज से बाकी 4 समितियां खरीदेंगी

बलौदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तेंदूपत्ता तोड़कर सुखाते लोग। - Dainik Bhaskar
तेंदूपत्ता तोड़कर सुखाते लोग।
  • पिछले साल तेंदूपत्ता संग्रहण का लक्ष्य नहीं हुआ था पूरा, इस वर्ष भी मौसम की मेहरबानी जरूरी
  • पिछले साल केवल तीन दिन हुई थी खरीदी

वन परिक्षेत्र बलौदा में हरा सोना के नाम से प्रसिद्ध तेंदूपत्ता की खरीदी प्रारंभ हो गई है। अभी परिक्षेत्र के पांच समितियों में केवल एक ही समिति ने खरीदी की शुरूआत की है। शेष सभी चार समितियों में तैयारी पूरी कर ली गई है। शनिवार से से इन समितियों में भी खरीदी प्रारंभ हो जाएगी।

पिछले वर्ष मौसम की बेरूखी के चलते लक्ष्य से75% तेंदूपत्ता कम खरीदी हुई थी। पिछले वर्ष का लक्ष्य 88 सौ मानक बोरे का था जिसमें मात्र 1968 बोरा तेंदूपत्ता का संग्रहण हो पाया। यानि लक्ष्य का मात्र 25%, पिछले वर्ष बलौदा समिति में लक्ष्य 13सौ बोरा में 520 बोरा, खिसोरा में 18 सौ में 433 ,पंतोरा में 2 हजार में 651 ,अकलतरा में 21 सौ में 436 एवं पहरिया समिति में 16 सौ बोरा के लक्ष्य में 361 बोरा तेंदूपत्ता संग्रहित हो पाया था तथा इसमें संग्राहकों की संख्या बलौदा में 1334, खिसोरा में 2822 ,पहरिया में 1100, पंतोरा में 1756 व अकलतरा में 1800 के लगभग थी।

कमोबेश यही लक्ष्य, यही संग्राहकों की संख्या इस वर्ष भी है। लक्ष्य पूरा होगा कि नहीं ये मौसम के पर निर्भर है। बलौदा समिति के प्रबंधक चंद्रहास जगत ने बताया कि मौसम साफ रहने से खरीदी दस से पंद्रह दिन तक चलती है पिछले वर्ष मात्र तीन दिनों में खरीदी बंद कर दी गई थी क्योंकि पत्ते छोटे और खराब आ रहे थे। इस वर्ष भी मौसम गड़बड़ दिख रहा है, अगर मौसम सही नहीं रहा को इस वर्ष भी खरीदी प्रभावित हो सकती है।

कोविड नियमों का पालन
अकलतरा समिति के प्रबंधक मनहरण उइके व खिसोरा समिति के प्रबंधक राय सिंह मरकाम ने बताया कि इस वर्ष भी कोरोना संक्रमण के चलते तेंदूपत्ता संग्राहकों को मास्क का वितरण किया गया है तथा उन्हें समझाइश दी गई है कि जंगल में पत्ते तोड़ते समय एक दूसरे से दूरी बनाकर रहें।

खबरें और भी हैं...