पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बड़ी लापरवाही:शून्य को अंग्रेजी का ‘ओ’ लिख दिया, 50 किसानों के 20 लाख अटके

दानसरा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बीमा क्लेम की राशि नहीं मिलने से परेशान किसान। - Dainik Bhaskar
बीमा क्लेम की राशि नहीं मिलने से परेशान किसान।
  • अपेक्स बैंक के आईएफएससी कोड में की गलती तो किसानों को नहीं मिली प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की राशि
  • बीमा कंपनी बोली-सुधार रहे हैं, बैंक ने कहा-पत्र का इंतजार है

बैंक के आईएफएससी कोड में शून्य के बदले अंग्रेजी वर्णमाला को ओ लिखे जाने से 4 गांव के 50 से अधिक किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्लेम के 20 लाख रुपए नहीं मिल पाए हैं। किसान परेशान हैं। इधर-उधर मदद मांग रहे हैं। बैंक के अफसर कहते हैं कि बीमा कंपनी सुधार करे या पत्र दे तो क्लेम की राशि तुरंत दे दी जाएगी।

पिछले खरीफ वर्ष 2020-21 में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना अंतर्गत सभी ऋणी व अऋणी किसानों का फसल बीमा योजना के अंतर्गत सारंगढ़ ब्लाक अंतर्गत रामटेक, अचानकपाली, दमदरहा, सराईपाली गांव के करीब 54 किसानों का बीमा कराया गया था। ऐसे किसान जिनका अन्य बैंकों में खाता था उन्हें बीमा क्लेम की राशि मिल गई, जिनके खाते अपेक्स बैंक में हैं, उनका बीमा क्लेम अभी तक नहीं मिला।

मामला तब सामने आया जब 3 महीने बाद भी बीमा की रकम उनके खातों में नही पहुंची। पहले तो किसानों ने समझा शायद सरकार ने अभी भुगतान नहीं किया है, ऐसे में इसे नजर अंदाज कर दिया गया। इसके बाद जब किसान बैंक जाने लगे तो मालूम हुआ कि जीरो ने क्लेम को अटका रखा है। इन दिनों किये जा रहे खेती में रकम के अभाव किसानों कई तरह की परेशानियों से किसानों को जूझना पड़ रहा है।

मजदूरों को भुगतान करने में हो रही परेशानी

रामटेक गांव के श्याम कुमार पटेल, बोधलाल पटेल, नेतराम पटेल, रामलाल पटेल, रघुनाथ पटेल जयराम पटेल ने बताया, हमारे खाते अपेक्स बैंक सारंगढ़ में हैं। बीमा क्लेम मिलना था पर आईएफसी कोड में जीरो की जगह ओ दर्ज हो जाने के कारण अभी तक हमें बीमा क्लेम का भुगतान नहीं मिल पाया है। रकम के अभाव में कृषि कार्य भी प्रभावित हो रहा है। मजदूरों को मजदूरी देने में भी परेशानी है।

सुधार की प्रक्रिया जारी

किसानों के खातों में आईएफसी कोड गलत होने के कारण किसानों को भुगतान नही हो पाया है। मामला प्रोसेस में किसानों को जल्द भुगतान मिल जाएगा।’’ आर.यादव, जिला समन्यवक एग्रीकल्चर इं.कं. आफ इंडिया लिमिटेड

कोई पत्र मिले तो दें राशि

बीमा कम्पनी के द्वारा लिखित में सुधार के लिए पत्र जारी किया जाता है तो आईएफसी कोड सुधार कर भेजा जाएगा। उसके बाद किसानों को बीमा क्लेम जल्दी मिल जाएगी।’’ एच.चंद्राकर, बीएम अपेक्स बैंक सारंगढ़

खबरें और भी हैं...