पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विभाग की लापरवाही:डैम बनाने में अनियमितता बरती गई है, मृत बच्चियाें काे मुआवजा दें

देवरी12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

करमा पर्व में जावा लाने के क्रम में वन विभाग के डेम में डूबकर देवरी प्रखण्ड के गादीकला की तीन किशोरियों की मौत से गमगीन पीड़ित परिवार से रविवार को इंटक के प्रदेश अध्यक्ष राज किशोर सिंह ने मुलाकात किया। उन्होंने पीड़ित परिवार को ढांढस बंधवाया साथ ही आवश्यक मदद का आश्वासन दिया। भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस के नेता ने कहा कि प्रथम दृष्टया वन विभाग की लापरवाही साफ झलकती है।

ग्रामीणों ने भी वन विभाग द्वारा डैम निर्माण में मानक प्रावधानों की अनदेखी की शिकायत इंटक नेता से की।इंटक नेता श्री सिंह ने घटनास्थल से ही डोरंडा रेंज के फोरेस्टर से बात की और उन्हें दो टूक कहा कि वन विभाग के अधिकारी गादी कला आकर पीड़ित परिवार से मिले। उन्होंने वन विभाग के अधिकारी को दो टूक कहा कि घटना स्थल का दौरा करें और पीड़ित परिवार से मिलें। कहा कि पीड़ित परिवार को मुआवजा मिलना ही चाहिए। इंटक नेता ने डेम पर ग्रामीणों के साथ जाकर देखा। और लोगों से पूछताछ की। ग्रामीणों ने वन विभाग के खिलाफ गोल बन्द होकर आंदोलन करने की बात कही। कहा जब तक मुआवजा नही मिलता आंदोलन जारी रखेंगे। बता दे कि डेम में डूबने से शुक्रवार की किशोर यादव, त्रिभुवन यादव एवं लक्ष्मण स्वर्णकार की एक एक किशोरी बालिकाएं वन विभाग द्वारा बनाये गए डेम में डूब जाने से मौत गयी।

इससे पूरा गादीकला गांव शोक में डूबा है। इंटक नेता श्री सिंह ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि आंदोलन में हम साथ हैं और पीड़ित परिवार को हर सम्भव मदद दिलाने के लिए वे भरपूर कोशिश करेंगे। उनके साथ इंटक के प्रदेश महासचिव निर्भय राय, इंटक के विकास यादव, महेंद्र सिंह, महेंद्र यादव, सुरेश यादव, राजेश यादव, त्रिभुवन यादव, लक्ष्मण राणा, राजकिशोर यादव, राजेश यादव, दामोदर यादव, त्रिभुवन यादव, कैलाश राणा, शंकर यादव, श्री राम विश्वकर्मा, अनिल यादव थे।

खबरें और भी हैं...