प्राथमिक केंद्र:आग से जली मां तो बेटे ने बुझाई, लेकिन नहीं बचा पाया, खुद भी झुलसा

देवरी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नयाखेड़ा गांव में 50 वर्षीय शांति बाई लोधी चिमनी में मिट्टी का तेल भरते समय जल गई, बेटे औंकार लोधी ने मां को बचाने का प्रयास में वह भी गंभीर रूप से झुलस गया, लेकिन वह अपनी मां काे नहीं बचा पाया। आग से जलने पर औंकार को देवरी अस्पताल लाया गया।

यहां से डॉ. केके सिलावट ने उसे रायसेन रेफर कर दिया। शांति बाई की मौत के बाद परिजन पोस्टमार्टम के लिए देवरी प्राथमिक केंद्र लेकर पहुंचे। यहां पर दूसरे दिन दोपहर एक बजे पोस्टमार्टम हो पाया। परिजनों और ग्रामीणों को 12 घंटे से अधिक समय तक पोस्टमार्टम के लिए परेशान होना पड़ा।

इस संंबंध में थाना प्रभारी राधेश्याम पटेल ने बताया कि महिला की चिमनी में मिट्‌टी का तेल भरते समय जलकर मौत हो गई। मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...