प्रशासन की सख्ती:बिना मास्क मिले तो 500 रु. जुर्माना, पेनल्टी नहीं दी तो 20 दिन के लिए गाड़ी होगी जब्त: कलेक्टर

जांजगीर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेलवे स्टेशनों पर होगी कोविड जांच, विवाह कार्यक्रम के लिए एसडीएम से लेनी होगी अनुमति

सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ 500 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। जुर्माना नहीं देने पर 20 दिनों के लिए वाहन संबंधित थाना में जब्त किया जाएगा। कलेक्टर यशवंत कुमार ने निर्देशित किया है कि विवाह आयोजन के लिए एसडीएम की अनुमति अनिवार्य किया गया है। निवास स्थल पर विवाह आयोजित करने की शर्त पर वैवाहिक कार्यक्रम आयोजन की अनुमति दी जाएगी।

विवाह में अधिकतम 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे। विवाह लग्न की तिथियों में राजस्व और पुलिस अधिकारियों द्वारा इसका निरीक्षण भी किया जाएगा। शर्तों नियमों का उल्लंघन होने पर कार्रवाई भी की जाएगी। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी यशवंत कुमार ने सोमवार को विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय विभागीय अधिकारियों की बैठक में कहा कि कंटेनमेंट जोन के नियम लाक डाउन की तुलना में अधिक सख्त हैं। इस अवधि में केवल स्वास्थगत कारणों से ही बाहर निकलने की अनुमति होगी। आवागमन पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा। टीकाकरण जारी रहेगा। दूध वितरण, पशुचारा, इक्वेरियम और अखबार हाॅकरो को सुबह 5 से 7 बजे तक की ही अनुमति दी गई है। इस अवधि में नगरीय निकाय के भीतर और अन्य चौक-चौराहों पर बैरिकेडिंग कर पुलिस विभाग द्वारा सतत जांच की जाएगी। साथ ही समय समय पर पेट्रोलिंग भी होेगी।

प्रवेश द्वार पर होगी जांच, ई पास से ही होगा आना जाना
कलेक्टर ने कहा कि जिले से बाहर आने-जाने की अनुमति नही होगी। जिले के प्रवेश मार्गो पर चेक पोस्ट बनाया जाएगा। चेक पोस्ट पर पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारी 24 घंटे तैनात रहेंगे। केवल अनुमति प्राप्त वाहन अथवा ई-पास वाले वाहन आना-जाना कर सकेंगे। ड्यूटी करने वाले अधिकारियो की बैठक लेकर गाइडलाइन की जानकारी देने की जिम्मेदारी संबंधित एसडीएम की होगी। रेल यात्रियों की स्टेशन पर कोविड-19, संक्रमण की जांच की जाएगी। रेल से बाहर जाने के लिए 72 घंटे पूर्व कोविड निगेटिव सर्टिफिकेट होने पर ही की यात्रा की अनुमति होगी। जांच में पॉजिटिव पाये जाने पर मरीजों को तत्काल क्वारंटीन सेंटर में शिफ्ट किया जाएगा। स्टेशन पर कोविड जांच के लिए डिप्टी कलेक्टर सुमित गर्ग को नोडल अधिकारी बनाया गया है।

दूध और पशु चारा दुकानें सुबह 5 बजे से 7 बजे तक
जिले में 13 अप्रैल शाम 6 बजे से 23 अप्रैल रात्रि 11ः59 बजे तक संपूर्ण जिले को कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। इस दौरान केवल अति आवश्यक एवं अनुमति प्राप्त सेवाएं ही संचालित होंगी। दूध पार्लर एवं दूध वितरण एवं पशुचारा दुकानें, पैट शॉप, इक्वेरियम द्वारा पशु चारा देने सुबह 5 बजे से 7 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है।

सरकारी कार्यालय खुलेंगे, लोगों के प्रवेश पर रोक
कलेक्टर ने कहा कि कंटेनमेंट आदेश में उल्लेखित शासकीय कार्यालय संचालित होंगे। इन कार्यालयों में आमजनों को प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। ऐसे विभाग जिनके कार्यालय बंद रहेंगे, उनसे संबंधित अधिकारी मुख्यालय से बाहर नही जाएंगे। आवश्यकता अनुसार कोविड प्रबंधन में उनकी भी ड्यूटी लगाई जाएगी। जिला से बाहर आना-जाना प्रतिबंधित रहेगा। ई-पास जारी करने के लिए संयुक्त कलेक्टर सचिन भूतड़ा को नोडल अधिकारी बनाया गया है। बैठक में एसपी पारुल माथुर, जिला पंचायत सीईओ गजेंद्र सिंह ठाकुर, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, सभी एसडीएम सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...