पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:890 वायल मिले, 12 दिन बाद वैक्सीनेशन शुरू होगा आज, कोविशील्ड की दूसरी डोज भी लगेगी

जांजगीर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सेंटर में 18 प्लस युवती को वैक्सीन लगाती नर्स। - Dainik Bhaskar
सेंटर में 18 प्लस युवती को वैक्सीन लगाती नर्स।
  • 9 जुलाई से केवल एक सेंटर में लग रहा था टीका, अब सीएचसी और पीएचसी में भी लगेगा

वैक्सीन नहीं हाेने से जिले में टीकाकरण का काम लगभग पंद्रह दिनों से प्रभावित हुआ है। पिछले बारह दिनों से तो चुनिंदा सेंटर में ही टीका लगाया जा रहा था। इसके बाद 9 जुलाई से जिले के 187 सेंटर में वैक्सीन की कमी के कारण वैक्सीनेशन बंद कर दिया गया था। केवल जिला अस्पताल में ही वैक्सीन लगाई जा रही थी। यहां भी केवल को वैक्सीन ही लग रही थी।

गुरुवार से जिले में फिर से वैक्सीनेशन होगा। मंगलवार को 890 वायल यानि 8900 डोज वैक्सीन आ गई है। गुरुवार से 63 स्थानों को वैक्सीन लगाने के लिए तय किया गया है। कोविशील्ड की वैक्सीन नहीं होने के कारण पिछले पखवाड़े भर से लोगों को टीका नहीं लग पा रहा था। केवल को वैक्सीन लगाई जा रही थी।

यह वैक्सीन भी बहुत कम थी, इसलिए केंद्रों की संख्या 188 से घटाकर केवल 1 कर दी गई थी। वैक्सीन नहीं होने के कारण लोगों को पहली डोज तो लग ही नहीं पा रही थी। ऐसे लोग जिन्होंने पहली डोज कोविशील्ड की लगवाई थी। उन्हें दूसरी डोज लगवाने के लिए मैसेज भी आ रहे थे, लेकिन वैक्सीन नहीं होने के कारण उन्हें दूसरी डोज नहीं लग पाई थी।

साइड इफेक्ट: 18+के केवल 15% को लग पाया टीका

वैक्सीन नहीं होने से बार बार वैक्सीनेशन प्रभावित हुआ है। इसका सीधा असर जिले के वैक्सीनेशन के प्रतिशत पर पड़ा है। जिले में 45 प्लस 3 लाख 56 हजार 500 लोगों को चिह्नांकित किया गया है। उसमें से मात्र 2 लाख 59 हजार123 लोगों को टीका लग पाया है। यह कुल टारगेट का 73 प्रतिशत है। वहीं दूसरी डोज केवल 24 प्रतिशत यानि 61 हजार 345 लोगों को लग पाई है।

वहीं 18 प्लस केवल 15 प्रतिशत लोगों को ही टीका लग पाया है। इस आयु वर्ग के 8 लाख 46 हजार 647 लोगों को चिह्नांकित किया गया है जिसमें से मात्र 1 लाख 24 हजार 830 लोगों को टीका लग पाया है, जबकि सेकंड डोज केवल 4764 यानि केवल 4 प्रतिशत को ही टीका लग सका है। वैक्सीन उपलब्ध होने पर यह स्थिति बदल सकती थी।

जहां वैक्सीनेशन कम वहां अभी भी कोरोना के मरीज

जिले में अभी भी कोरोना के मरीज मिल रहे हैं, यह चिंता का विषय तो है ही, इसके बाद भी लोग वैक्सीन लगवाने के लिए बहुत अधिक जोर नहीं दे रहे हैं। कलेक्टर जितेंद्र शुक्ला ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि जिन गांवों में अभी भी काेरोना के मरीज मिल रहे हैं, वहां शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए फोकस करें।

जिले में इन स्थानों पर लगेगी वैक्सीन

  • सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में
  • सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में
  • जांजगीर में गट्‌टानी स्कूल, नैला मीडिल स्कूल व सांस्कृतिक भवन में
  • चांपा में बीडीएम सहित तीन स्थानों पर
  • सिविल डिस्पेंसरी शिवरीनारायण व बाराद्वार में

वैक्सीन जरूरत के हिसाब से कम मिली

कोविशील्ड के 890 वायल मिले हैं। इसलिए गुरुवार से 63 केंद्रों में वैक्सीनेशन किया जाएगा। अभी भी वैक्सीन की मात्रा जरूरत के हिसाब से कम है, इसलिए पीएचसी में वैक्सीनेशन नहीं होगा।''
डॉ. एसआर बंजारे, सीएमएचओ, जांजगीर-चांपा

खबरें और भी हैं...