स्टूडेंट्स को ट्रैक्टर और पिकअप में लादकर लाए:जनरल नॉलेज प्रतियोगिता में उमड़ी बच्चों की भीड़; ओमिक्रॉन को लेकर पहले से जिले में अलर्ट

जांजगीर5 महीने पहले

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे और छत्तीसगढ़ में बच्चों में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच एक हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां जांजगीर जिले के एक स्कूल में जनरल नॉलेज प्रतियोगिता में बच्चों की ऐसी भीड़ पहुंची, जो कोरोना की तीसरी लहर को न्योता दे सकती है। जिले में पहले से ही ओमिक्रॉन को लेकर अलर्ट जारी किया जा चुका है। इसके बावजूद स्कूल प्रबंधन ने बच्चों की इतनी भीड़ को जमा किया। इतना ही नहीं बच्चों को स्कूल तक लाने पिकअप और ट्रैक्टर का इस्तेमाल किया गया।

दरअसल, 5 दिसंबर जिले के डभरा के नेशनल कान्वेंट स्कूल में कक्षा-5वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इसमें शामिल होने कान्वेंट स्कूल समेत आसपास के स्कूलों के बच्चे पहुंचे थे। यहां बच्चों की ऐसी भीड़ उमड़ी जो उनके लिए खतरनाक साबित हो सकती है। कई बच्चों के चेहरे से मास्क भी नदारद रहा। हैरानी की बात ये है कि इस पर किसी ने ध्यान तक नहीं दिया गया।

जूनियर और सीनियर वर्ग में अलग-अलग प्रतोयोगिता

बताया गया कि स्कूल में जूनियर और सीनियर वर्ग में इस प्रतोयोगिता का आयोजन किया गया था। जिसके लिए इनाम की राशि भी 500 रुपए से लेकर 5 हजार रुपए तक थी। प्रथम पुरस्कार जीतने वाले को 5 हजार और 5वां स्थान प्राप्त करने वाले को 500 रुपए इनाम की घोषणा थी। दूसरा स्थान 2500, तीसरा स्थान 400 और चौथा स्थान पाने वाले के लिए 500 रुपए इनाम की घोषणा थी। यही वजह है कि बड़ी संख्या में बच्चे भी शामिल हुए थे।

GPM में 50% छात्रों के साथ ही खुलेंगे स्कूल:2 स्कूलों के प्रिंसिपल, 2 स्टूडेंट्स के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद प्रशासन ने जारी किए आदेश

SDM बोलीं-अनुमित नहीं ली

इधर, जब दैनिक भास्कर ने प्रशासन से इस बारे में बात की तो एसडीएम दिव्या अग्रवाल ने बताया कि आयोजक की तरफ से कोई जानकारी हमें नहीं दी गई थी। प्रशासन से अनुमति भी नहीं ली गई। आपके माध्यम से जानकारी मिली है। जिसके बाद छात्रों को घर पहुंचाने की सारी व्यवस्था बनाई जा रही है।

ओमिक्रॉन को लेकर जांजगीर में अलर्ट:CMHO ने कहा-विदेश से आए लोगों की कड़ाई से जांच हो; एक दिन में ही बढ़ी मरीजों की संख्या

क्यों बढ़ रही है चिंता

जांजगीर जिले में नए वैरिएंट को लेकर कुछ दीन पहले ही सीएमएचओ ने अलर्ट जारी किया था। उस दौरान कहा गया था कि जिले में कोविड गाइडलाइन को लेकर विशेष सख्ती बरती जाए। बाहर से आने वाले लोगों पर कड़ी निगरानी की जाए। इस बीच बुधवार को बलरामपुर जिले में 2 छात्राएं, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में एक छात्रा और एक छात्र, पेंड्रा में ही प्रिंसिपल दंपती और कोरबा में एक टीचर कोरना पॉजिटिव मिले थे। गौरेला में तो लगातार बढ़ रहे मामलों के चलते स्कूल भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने के लिए कहा गया है। ऐसे में जांजगीर जिले की यह तस्वीर हैरान करने वाली है।

खबरें और भी हैं...