कीट प्रकोप:किसानों पर दोहरी मार, 35 रुपए में मिल रहे पुराने बारदाने

बिर्रा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बेमौसम बारिश होने और फसल में कीट प्रकोप से हुए फसल के नुकसान के बाद अब किसानों को समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए 5 से 10 रुपए अतिरिक्त देना पड़ रहा है। शासन के निर्देश पर किसानों को प्रति बोरा 25 रुपए का भुगतान किया जा रहा है, मगर बाजारों में व्यापारी प्रति बोरा 28 से 35 रुपए बेच रहे हैं। इससे किसान परेशान है।

शासन के निर्देश पर समर्थन मूल्य पर धान खरीदी सभी केंद्रों में 1 दिसम्बर से शुरू हो गई है। पिछले की तुलना में शासन द्वारा प्रति बोरे की कीमत में 10 रुपए इजाफा कर किसानों को 25 रुपए प्रति बोरे की दर से भुगतान करने का निर्देश जारी किया है, मगर दूसरी ओर बाजारों में व्यापारियाें ने बोरे की बढ़ा दी है। बाजारों में जूट बोरा 30 से 35 रुपए में बिक रहा है। ऐसे में किसानों को प्रति बोरे 5 से 10 रुपए अतिरिक्त बोझ पड़ने लगा है। क्षेत्र हुई बेमौमस बारिश और मौसम बदलने के बाद किसानों को कीट प्रकोप का सामना करना पड़ा, जिसके कारण इस बार फसल सहेजने में आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा,वहीं पिछले साल की तरह इस बार भी शासन द्वारा किसानों के बोरे से धान की खरीदी की जा रही है।

खबरें और भी हैं...