क्लास रूम में छत से नीचे गिर गया पंखा:अंदर थे चौथी और पांचवी के स्टूडेंड, अचानक धड़ाम से गिरा; स्कूल भवन है जर्जर

जांजगीरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्कूल में बड़ा हादसा टल गया। - Dainik Bhaskar
स्कूल में बड़ा हादसा टल गया।

छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले के एक स्कूल के क्लास रूम में पंखा अचानक नीचे गिर गया। क्लास रूम में उस दौरान 13 बच्चे थे। तभी ये हादसा हुआ। राहत की बात ये रही कि बच्चों को किसी तरह से चोट नहीं आई है। मगर एक बार फिर से सरकारी स्कूल की लचर व्यवस्था सवालों के घेरों में है। स्कूल की हालत भी काफी जर्जर है। मामला जिले के शासकीय प्राथमिक शाला रसौटा का है।

जानकारी के मुताबिक, स्कूल में चौथी और पांचवी की कक्षा एक ही क्लासरूम में लगी थी। दोपहर को करीब डेढ़ बजे लंच हुआ था। जिसके कारण क्लास में 13 बच्चे मौजूद थे। वहीं बाकी के छात्र बाहर खेल रहे थे, कुछ लंच कर रहे थे। इसी दौरान छत पर लगा पंखा जमीन पर गिर गया। गनीमत यह रही कि बच्चे उस वक्त इधर-उधर थे, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था।

जर्जर भवन के चलते बिजली कनेक्शन को काट दिया गया है।
जर्जर भवन के चलते बिजली कनेक्शन को काट दिया गया है।

स्कूल की हालत पूरी तरह से जर्जर अवस्था में है। इसी वजह से पंखे में बिजली कनेक्शन काट दिया गया था। लेकिन पंखे को वहीं लटका हुआ छोड़ दिया गया। जो मंगलवार को अचानक धड़ाम से गिर गया। घटना के बाद दौड़ते हुए बच्चे क्लास रूम से बाह गए और शिक्षक हेमंत भारद्वाज को इसकी जानकारी दी। तब फिर मौके से पंखे को हटाया गया।

स्कूल अभी सिर्फ एक टीचर के सहारे संचालित है।
स्कूल अभी सिर्फ एक टीचर के सहारे संचालित है।

दरअसल, यहां बच्चों की परेशान यहीं खत्म नहीं हुई है। स्कूल के शिक्षक इन दिनों अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। जिसके कारण हेमंत भारद्वाज को अभी स्कूल संभालने की जिम्मेदारी दी गई। इस मामले को लेकर हेमंत भारद्वाज ने कहा कि भले ही घटना टल गई है। लेकिन अधिकारियों को इस पर विशेष ध्यान देना चाहिए। वहीं इस मामले में जब हमने अधिकारियों से बात करने की कोशिश की तो उनसे बात नहीं हो सकी है।

खबरें और भी हैं...