धान खरीदी शुरू होने के बाद बवाल:खरीदी केंद्र खोलने की मांग को लेकर किसानों ने किया चक्काजाम; 9 घंटे तक बंद रहा डभरा-खरसिया मार्ग

जांजगीरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चक्काजाम में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए थे। - Dainik Bhaskar
चक्काजाम में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए थे।

छत्तीसगढ़ में धान खरीदी शुरू होने के बाद विरोध प्रदर्शन भी शुरू हो गया है। प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में किसान अलग-अलग कारणों से विरोध कर रहे हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को किसानों ने खरीदी केंद्र खोलने की मांग को लेकर जांजगीर में जमकर हंगामा कर दिया है। किसानों ने यहां डभरा-खरसिया रोड में चक्काजाम कर दिया। जिसकी वजह से यह रास्ता 9 घंटे तक बंद रहा।

जिले के फरसवानी गांव के किसान सुबह 9 बजे ही डभरा-खरसिया रोड पर पहुंच गए थे। उनके साथ बड़ी संख्या में महिलाएं भी पहुंची थीं। जिनके हाथों में तख्तियां थीं। तख्तियों में लिखा गया था कि फरसवानी गांव में जल्द धान खरीदी केंद्र खोला जाए। मौके पर पहुंचे किसानों और महिलाओं ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। काफी देर तक मचे हंगामे के बाद कोई प्रशासनिक अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा था।

महिलाएं हाथ में तख्तियां लिए प्रदर्शन करतीं रहीं।
महिलाएं हाथ में तख्तियां लिए प्रदर्शन करतीं रहीं।

3 गांव के लोग धान बेचते हैं

किसानों का कहना है कि फरसवानी गांव के नाम से अभी गोबरा में धान खरीदी केंद्र चलाया जा रहा है। यहां फरसवानी के अलावा गोबरा और चुरतेला गांव के लगभग 1261 किसान धान बेचते हैं। इसी वजह से हमें धान बेचने में परेशानी होती है। वहां आने-जाने में पैसा भी खर्च होता है। इसलिए हम चाहते हैं कि फरसवानी में ही केंद्र खोल जाए। हमने इसके पहले भी कई बार मांग की। मगर प्रशासन ने अब तक ध्यान ही नहीं दिया। इसलिए ही हमने चक्काजाम किया।

6 घंटे बाद आए अधिकारी

चक्काजाम के चलते रोड की दोनों तरफ वाहनों की लंबी-लंबी कतारें थी। वहीं प्रशासन को भी स बाती सूचना दी गई थी। 6 घंटे बीत जाने के बाद शाम करीब 3.30 बजे जांजगीर सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी अश्वनी पांडे मौके पर पहुंचे तब मामला शांत हुआ। पांडे ने ग्रामीणों से कहा कि जल्द ही आपके इलाके में धान खरीदीे केंद्र शुरू करेंगे। इसके बाद पूरा ग्रामीणों ने चक्काजाम खत्म किया है।