पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्राउंड रिपोर्ट:सोमवार काे भी नहीं मिला टोकन चाैथे दिन खाली हाथ लौटे किसान

जांजगीर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहीं वारदाने ही नहीं तो कहीं खरीदी की व्यवस्था नहीं हो पाई पूरी, अव्यवस्था के बीच धान खरीदी होगी आज से

सरकार ने 27 नवंबर से किसानों को टोकन जारी करने का निर्देश दिया है, लेकिन इसके चार दिन बाद भी किसानों को टोकन देने की व्यवस्था नहीं हो पाई है। सोमवार को भी किसानों को टोकन नहीं मिला, वहीं खरीदी केंद्रों में भी व्यवस्था पूरी नहीं हो पाई है। सोमवार की सुबह दैनिक भास्कर की टीम ने जिले के चांपा, जांजगीर और अकलतरा तहसील मुख्यालय से सटे गांव में समितियों की पड़ताल की। यहां टोकन कटाने आए किसान तो मिले, लेकिन उन्हें टोकन के लिए ऑपरेटर और न ही कोई समिति सदस्य मौके पर मिला। इतना ही नहीं मौके पर किसानों के लिए शेड पंडाल जैसी तैयारी अब तक नहीं की जा सकी है। इन अव्यवस्थाओं के बीच मंगलवार से धान खरीदी शुरू होगी।
75 क्विंटल से अधिक धान बेचे तो रद्द होगा राशन कार्ड - जिला खाद्य अधिकारी अमृत कुजूर ने बताया कि ऐसे किसान जिनके पास राशन कार्ड है और उन्हें न्यूनतम दर पर सरकारी राशन दुकान से सस्ता राशन मिलता है, ऐसे किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर 75 क्विंटल से अधिक धान बेचा जाएगा तो उनका राशन कार्ड निरस्त कर दिया जाएगा, क्योंकि वे फिर लघु किसान की श्रेणी से ऊपर आ जाएंगे।

फैक्ट्री में वारदाने कम बने इसलिए परेशानी
कोविड के कारण इस वर्ष वारदाना फैक्ट्री में वारदाने कम बने हैं। जिले में बड़ी मात्रा में वारदाना की जरूरत पड़ेगी, इसके लिए सरकार ने मिलर्स से भी वारदाना देने कहा है, किंतु मिलर्स ने वारदाने अभी तक नहीं दिए है। खाद्य अधिकारी अमृत कुजूर के अनुसार पीडीएस के राशन दुकानों के ही वारदानों से इस बार पहले खरीदी करने का आदेश दिया है। अपनी ही व्यवस्था में एक सप्ताह तक खरीदी करने का निर्देश दिए है। मिलर्स को भी जल्दी ही वारदाना देने कहा है।

कोसमंदा समिति का सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं
धान खरीदी केंद्र कोसमंदा में सुबह कोई नहीं था, थोड़ी देर बाद समिति के ऑपरेटर हितेश राठौर पहुंचे। उनके साथ हमाल भी थे। उन्होंने बताया कि समिति में बहेराडीह और कोसमंदा गांव के किसानों से धान की खरीदी की जानी है, लेकिन न तो सिस्टम मिला है, और न ही टोकन वितरण करने के लिए साफ्टवेयर।। किसान बजरंग राठौर ने बताया कि वे तीन दिनों से समिति का चक्कर लगा रहे हैं। यहां बिजली तक की व्यवस्था नहीं थी।

सोंठी समिति में तीन दिनों से किसान लगा रहे चक्कर
सोंठी समिति में हथनेवरा, भरमाल, पिपरदा, सोंठी के किसानों के धान लिए जाने हैं। समिति में 1348 किसान पंजीकृत है, जिनका रकबा करीब 17 सौ है, सोमवार की सुबह जब भास्कर की टीम मौके पर पहुंची तो 4 किसान समिति के बाहर बैठे मिले। किसान शिवचरण यादव ने बताया कि समिति प्रबंधकों के ट्रांसफर के बाद अबतक नए प्रबंधक ने चार्ज नहीं लिया है, जिसकी वजह से उन्हें रोज वापस लौटना पड़ रहा है।

कोनार में वारदाना नहीं और कंप्यूटर भी अपडेट नहीं
मुलमुला | धान खरीदी के लिए कोनार को मुलमुला से हटा कर नया ख़रीदी केंद्र बनाया गया है। कोनार केंद्र में कोनार तथा तावनडीह के किसान धान बेचेंगे। इस केंद्र में अभी तक वारदाना उपलब्ध नहीं होने से किसानों को टोकन जारी नहीं हो सका है। केंद्र प्रभारी मधुसूदन साहू ने बताया कि अभी केंद्र में वारदाना नहीं आया है। वारदाना मिलने के बाद पहले कंप्यूटर में अपडेट किया जाएगा, उसके बाद किसानों को टोकन दिया जाएगा। मुलमुला केंद्र में टोकन लेने किसान केंद्र पहुंचे पर गुरुनानक पर्व की छुट्टी होने के साथ केंद्र में नए डाटा एंट्री ऑपरेटर के मौजूद न होने से किसान वापस लौट गए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser