पुलिस की बाइक छीनी, तोड़फोड़ भी की:पुलिस टीम पर जुआरियों का हमला 2 आरक्षक घायल; चौकी प्रभारी भागे, डेढ़ दर्जन लोगों पर मामला दर्ज

जांजगीरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जुआरियों की तलाश में गांव पहुंची पुलिस की टीम। - Dainik Bhaskar
जुआरियों की तलाश में गांव पहुंची पुलिस की टीम।

दिवाली की रात जुआ पकड़ने गई अड़भार चौकी प्रभारी की टीम को लीमगंाव के ग्रामीणों ने घेर लिया। जुआरी और ग्रामीणों ने टीम पर हमला कर दिया। चौकी प्रभारी तो वहां से निकल भागे लेकिन उनके साथ गए दो आरक्षक हरिराम जांगड़े और अशोक साहू ग्रामीणों से बच नहीं सके। दोनों आरक्षकों को गंभीर चोट आई है। एक आरक्षक को बिलासपुर रेफर किया गया है।

टीम में चौकी प्रभारी प्रधान आरक्षक पुष्पेंद्र कंवर, आरक्षक अशोक साहू और आरक्षक हरिराम जांगड़े थे। जब टीम गांव पहुंची तो मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुआ खेलने के लिए लगी थी। कुछ लोग तो पुलिस को देखकर भाग निकले। वहीं कुछ लोगों ने पुलिस कर्मियों को घेर लिया। पुलिस ने भी चार जुआरियों को पकड़ लिया था। तभी पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। जुआरी और ग्रामीणों की संख्या अधिक होने के कारण पुलिस टीम कमजोर हो गई। मारपीट शुरू हो गई। किसी तरह ग्रामीणों से खुद को बचाकर चौकी प्रभारी पुष्पेंद्र कंवर भागते हुए चौकी पहुंचे। उन्होंने पुलिस के आला अधिकारियों को जानकारी दी।

सरायपाली में भी ग्रामीणों ने पुलिस पर किया हमला एएसआई घायल, गाड़ी में तोड़फोड़, आठ गिरफ्तार
जुआरिओं को पकड़ने गई पुलिस पार्टी के साथ लूटपाट, मारपीट एवं सरकारी गाड़ी को तोड़फोड़ करने का मामला सामने आया है। इसमें एएसआई सहित आरक्षकों को चोटें आई हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर अब तक 8 आरोपियाें को गिरफ्तार किया है। मामला सरायपाली थाना क्षेत्र के ग्राम बिरकोल का है। सरायपाली पुलिस के अनुसार 3 नवंबर को मुखबिर से सूचना मिली कि ग्राम बिरकोल में कुछ लोग रुपए का दांव लगाकर जुआ खेल रहे हैं। सूचना मिलते ही थाना में पदस्थ सहायक उप निरीक्षक बसंत पाणिग्राही के नेतृत्व में टीम छापामार कार्रवाई करने ग्राम बिरकोल पहुंची। यहां सामुदायिक भवन के पास कुछ लोग जुआ खेल रहे थे, जिसे योजनाबद्ध तरीके से घेराबंदी कर पकड़ने की कार्रवाई की गई। इसी दौरान 10-15 लोग पुलिस को कार्रवाई से रोकने लगे और वाद-विवाद करने लगे। इसी दौरान लोगों ने उग्र होकर पुलिस से ही मारपीट शुरू कर दी।

कवर्धा व पंडरिया थाने में बलवा दर्ज, जुए के 103 मामलों में 439 गिरफ्तार
जिले में दीपावली पर्व के दौरान अपराध संबंधित मामले बढ़े है। तीन से लेकर 6 नवंबर तक जिले के विभिन्न थानों में आपस में मारपीट, पुरानी रंजिश, पटाखा फोड़ने समेत छोटे-छोटे विवाद थाने तक जा पहुंचा। ऐसे कुल 31 मामले हैं, जिनमें एफआईआर दर्ज की गई है। दो मामले ऐसे है, जिसमें लाठी-डंडे तक चले हैं। इस मामले में पुलिस ने बलवा के तहत मामला दर्ज किया है। दोनों मामले पंडरिया व कोतवाली थाना के है। इसके अलावा पूरे त्योहार के दौरान जुए के 103 प्रकरण सामने आए हैं। इनमें 439 आरोपियों को गिरफ्तार कर 1 लाख 63 हजार 515 रुपए जब्त किए गए। बलवा का पहला मामला कोतवाली थाना कवर्धा का है। थाने से मिली जानकारी अनुसार ग्राम खैरबनाकला निवासी ईश्वर साहू ने एफआईआर दर्ज कराई है। इस दौरान बीच-बचाव करने ईश्वर की पत्नी अहिल्या बाई सामने आई। लेकिन नैन बाई, सावित्री बाई, मनिता बाई ने भी मारपीट शुरू कर दी। पीड़ित ईश्वर के आवेदन पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 147, 148, 294, 323, 506(बी) के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

खबरें और भी हैं...