कोरोना से जंग:बड़े अस्पतालों में नहीं मिला बेड तो कोविड केयर सेंटर में किया भर्ती तब ऑक्सीजन लेवल 85 था, अब स्वस्थ

अकलतरा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संजय ओगरे - Dainik Bhaskar
संजय ओगरे

ग्राम रसेड़ा की सरपंच गीता देवी ओगरे के पुत्र 33 वर्षीय युवक संजय ओगरे ने आत्मबल गिरने नहीं दिया एवं ऑक्सीजन लेबल 85 होने के बाद भी डॉक्टरों की सलाह से कोरोना से जंग जारी रखी एवं कोरोना को हारकर युवक स्वस्थ होकर आज अपने गृह ग्राम रसेड़ा वापस लौट गया।

संजय ओगरे को बुखार तेज होने एवं सर्दी खांसी होने पर कोरोना टेस्ट करवाने पर रिपोर्ट पॉजिटिव आई युवक को सांस लेने में तकलीफ होने पर जांजगीर के कोविड हॉस्पीटल में भर्ती करवाने के लिए कोविड हॉस्पिटल जांजगीर के अलावा चांपा के प्रायवेट अस्पतालों में भर्ती करने के लिए गुहार लगाई गई लेकिन ऑक्सीजन बेड उपलब्ध नहीं होने से युवक भर्ती नहीं हो सका।

युवक के भाई अरुण कुमार ओगरे को आईटीआई कोविड केयर सेन्टर की जानकारी मिली। वहां भर्ती किया गया कोविड केयर सेन्टर प्रभारी डॉ जे आर आरमोर एवं डॉ स्वप्निल दुबे ने जांच की तो युवक का ऑक्सीजन लेबल 85 था। तत्काल ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू की ऑक्सीजन लगने से युवक को आराम लगना शुरू हो गया डॉक्टरों की सलाह पर युवक द्वारा समय पर आवश्यक दवाई खाने के साथ-साथ सुबह शाम योग करने के साथ-साथ डॉक्टर की समस्त सलाह को मानने पर दो दिनों में ही युवक का ऑक्सीजन लेबल बढ़कर 94 में आ गया।

खबरें और भी हैं...