पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ये नई व्यवस्था:50 हजार से ज्यादा है बिल तो सिर्फ ई-पेमेंट

जांजगीर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पांच हजार से अधिक बिल भुगतान करने वालों की संख्या 70 हजार से अधिक

नियामक आयोग के फैसले के बाद बिजली कंपनी ने पांच हजार से अधिक के बिल भुगतान पर कांउटरों पर प्रतिबंध लगा दिया है। उपभोक्ताओं को अब सिर्फ ऑनलाइन ही बिल भुगतान करना होगा। काउंटर पर सिर्फ 1 रुपए पांच हजार रुपए तक के ही भुगतान लिए जाएंगे।

बिजली का बिल 5 हजार रुपए से ज्यादा होने पर लोग उसे कैश काउंटरों पर जमा नहीं लिए जाएंगे। ऑनलाइन भुगतान की अनिवार्यता के कारण एटीपी व मैन्युअल भुगतान काउंटरों में भी भीड़ कम होने लगी है। अब ज्यादा से ज्यादा लोग इस सिस्टम के तहत भुगतान कर रहे हैं। बिजली विभाग के अफसरों का कहना है केंद्र सरकार द्वारा सभी राज्यों में एक हजार से अधिक का बिल ऑनलाइन जमा लेने का फैसला किया गया है। इसका निर्णय राज्यों पर छोड़ा गया था, जिसे लेकर नियामक आयोग ने बिजली कंपनी को अधिकतम पांच हजार रुपए तक का बिल भुगतान काउंटरों से जमा लेने का निर्णय लिया गया है। पांच हजार से अधिक बिल ऑनलाइन लिए जाएंगे।

छोटे बिल पर भी ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा
थोड़े समय बाद बिजली कंपनी यह लिमिट और कम करने की तैयारी कर रही है। ताकि लोगों को किसी तरह की असुविधा न हो। अफसरों के अनुसार ज्यादातर लोग आनलाइन भुगतान की ओर जा रहे हैं। लोग छोटे-छोटे पेमेंट भी निजी वॉलेट्स से कर रहे हैं।

पांच हजार से अधिक बिल वाले 70 हजार उपभोक्ता
जिले में सवा तीन लाख बिजली उपभोक्ता है। इनमें से एक रुपए से लेकर पांच हजार बिल भुगतान वाले उपभोक्ताओं की संख्या करीब ढाई लाख से अधिक है। वहीं करीब 70 हजार उपभोक्ता है, जिनका बिल हर महीने 5 हजार रुपए से अधिक होता है।

सुविधा में बदलाव हुए हैं
यह व्यवस्था काउंटरों लागू कर दी गई है। इससे उपभोक्ताओं को फायदा हो रहा है, मोर बिजली एप के अलावा वे आरटीजीएस व अन्य तरीकों से भी ऑनलाइन बिल भुगतान कर सकते हैं।
- केएन सिंह, ईई जांजगीर

खबरें और भी हैं...