पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निरीक्षण में मिली कमियां:कॉलेज में नहीं मिले प्रोफेसर तो छुट्टी नहीं लेने पर जताई नाराजगी

जांजगीर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गौठान समिति के सदस्यों व समूह की महिलाओं से चर्चा करते। - Dainik Bhaskar
गौठान समिति के सदस्यों व समूह की महिलाओं से चर्चा करते।
  • प्रभारी सचिव ने प्रोफेसर और कर्मचारियों को नियमित रूप से कॉलेज में उपस्थित रहने दिए निर्देश

छत्तीसगढ़ शासन के उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा सचिव और जिले के प्रभारी सचिव धनंजय देवांगन ने बलौदा के डॉ. भीमराव अंबेडकर शासकीय कॉलेज का औचक निरीक्षण किया। जब प्रभारी सचिव देवांगन कॉलेज पहुंचे, तब तक वहां प्रोफेसर व अन्य कर्मचारी नहीं पहुंचे थे।

उन्होंने प्रोफेसर और कर्मचारियों की उपस्थिति पंजी का निरीक्षण किया, जिसमें प्रोफेसर और कर्मचारी अनुपस्थित मिजे। प्राचार्य द्वारा अवकाश स्वीकृति में निर्धारित प्रक्रिया का भी पालन नहीं किया गया था। इस पर देवांगन ने नाराजगी व्यक्त की। देवांगन ने कहा कि अवकाश स्वीकृत करने में निर्धारित प्रक्रिया का कड़ाई से पालन करें।

काॅलेज में अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को अनुशासित रखने के लिए अवकाश स्वीकृति में निर्धारित प्रक्रिया का पालन करना आवश्यक है। उन्होंने परिसर का निरीक्षण कर सौंदर्यीकरण एवं पौधरोपण के संबंध में एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ गजेंद्र सिंह ठाकुर, एसडीएम श्रीमती मेनका प्रधान, महाविद्यालय के प्राचार्य एवं स्टाफ उपस्थित थे।

अधिक लाभ वाली गतिविधियों में रुचि लें - प्रभारी सचिव धनंजय देवांगन ने बलौदा विकासखंड के नवगंवा, अकलतरा ब्लाक के ग्राम अमोरा और पामगढ़ विकासखंड के ग्राम बारगांव के गौठानों का निरीक्षण किया। प्रभारी सचिव ने वहां काम करने वाले महिला स्व सहायता समूह के सदस्यों से चर्चा की।

श्री देवांगन ने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रूप से समृद्ध बनाने के लिए गौठानों को व्यवसायिक गतिविधि के सेंटर के रूप में विकसित किया जा रहा है। इसके लिए उन्हें व्यवसायिक सोच के साथ अधिक लाभ वाले व्यवसाय को अपनाना होगा साथ ही बाजार की मांग के अनुसार व्यवसाय में लाभ के अवसर को भी तलाशने की आवश्यकता है।

आय व्यय का खाता व्यवस्थित रखने पर दिया जोर

प्रभारी सचिव ने स्व सहायता समूह की महिलाओं से कहा कि अपने आय-व्यय के लिए निर्धारित प्रक्रिया का पालन करते हुए बही खाता अपडेट रखें । किसी भी प्रकार की दिक्कत होने पर संबंधित बैंक व ग्राम पंचायत सचिव की मदद ले सकते हैं। समूहों को चाहिए की वे अपनी आमदनी बढ़ाकर आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर हों, स्थानीय लोगो का गांव मे ही रोजगार मिले।

जिला पंचायत सीईओ श्री गजेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि सभी गौठानों के खाद रखने के लिए गोदाम की स्वीकृति दी गई है। इसके अलावा स्व -सहायता समूहों को एनआरएलएम के माध्यम से व्यवसाय के लिए निशुल्क प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। पात्रता अनुसार बैंक ऋण भी स्वीकृत करने का प्रावधान है।

सेवा सहकारी समिति जर्वे व कोसला का किया निरीक्षण

प्रभारी सचिव ने जर्वे(ब) और कोसला की सहकारी समिति का निरीक्षण कर खाद की उपलब्धता और वितरण की जानकारी ली। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों से कहा कि समिति के स्टाक में खाद पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहे ताकि किसानों की मांग के अनुरूप खाद उपलब्ध कराया जा सके।

खबरें और भी हैं...