पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गोधन न्याय योजना:12 दिन में 2216 पशुपालकों ने बेचा 5 लाख 95 हजार का गोबर

जांजगीर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोधन न्याय योजना की शुरुआत 20 जुलाई को हुई। तब से 1 अगस्त तक के बारह दिनों में जिले के 2 हजार 216 पशुपालक किसानों ने गोबर बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया और इन किसानों ने 2 लाख 97 हजार 607 किलोग्राम गोबर गौठान के माध्यम से बेचा है। इन पशुपालकों को बेचे गए गोबर 2 रुपए किलोग्राम की दर से 5 लाख 95 हजार 214 रुपए का भुगतान सहकारी बैंक के माध्यम से किया जाएगा। पहला भुगतान 5 अगस्त को उनके खाते में आ जाएगा। जिला पंचायत के सीईओ तीर्थराज अग्रवाल ने बताया कि जिले में गोधन न्याय योजना का सकारात्मक क्रियान्वयन कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में किया जा रहा है। जिले में गत 20 जुलाई को गोधन न्याय योजना का शुभारंभ होने के साथ ही ग्रामीणों, पशुपालकों द्वारा गोबर एकत्र कर गोठान में बेचना शुरू कर दिया है। गोठान समिति के द्वारा गोठान में लाए गए गोबर का हिसाब रजिस्टर में दर्ज किया जा रहा है। इसके बाद पशुपालक, गोधन मित्र, सखी एवं स्व सहायता समूह को भुगतान करने के लिए सहकारी बैंक में खाते खुलवाए जाने की प्रक्रिया शुरू की गई।

जिले में 255 पंजीकृत गौठान में 2 हजार 880 पशुपालकों का पंजीयन
जिपं सीईओ श्री अग्रवाल ने बताया कि गोबर बेचने वाले पशुपालकों का भुगतान सहकारी किया जाएगा। यह भुगतान 20 जुलाई से 1 अगस्त तक गौठान में गोबर बेचने वाले पशुपालकों को किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सहकारी बैंक से प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र की 255 गौठान पंजीकृत है, इनमें से 248 गौठान क्रियाशील हैं। सहकारी बैंक के माध्यम से 2 हजार 880 पशुपालकों का पंजीयन किया गया। इनमें 2 हजार 216 पशुपालकों द्वारा 1 अगस्त तक गौठान में गोबर बेचा गया है। उनका अभी गोबर का भुगतान किया जा रहा है। इसके अलावा 2 अगस्त के बाद से जिन पशुपालकों ने गोबर बेचा है उनका सहकारी बैंक के माध्यम से पशुपालकों का सतत भुगतान होता रहेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser