जांजगीर जिला अस्पताल में 15 डॉक्टर समेत 43 पॉजिटिव:हफ्तेभर के अंदर हुए संक्रमित, कोविड पेशेंट्स की भी परेशानी बढ़ी; 7 दिन में 1556 मरीज

जांजगीर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में इलाज करवाने आ रहे मरीजों को इन दिनों काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में इलाज करवाने आ रहे मरीजों को इन दिनों काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ ही जांजगीर जिले में भी हालात चिंताजनक हो चले हैं। सबसे ज्यादा परेशानी की बात यहां ये सामने आई है कि ज्यादातर फ्रंटलाइन वर्कर्स कोरोना के चपेट में आ रहे हैं। सिर्फ जांजगीर जिला अस्पताल में ही 15 डॉक्टर समेत 43 स्टाफ हफ्तेभर में संक्रमित हो चुके हैं। जिसके चलते सामान्य मरीजों से लेकर कोविड मरीजों के लिए भी परेशानी काफी बढ़ गई है। जिले की 17 लाख की आबादी इसी जिला अस्पताल पर ही निर्भर है।

नए साल के पहले कोरोना के मरीज कम आ रहे थे। यहां तक की 1 जनवरी से भी आंकड़े इन दिनों की अपेक्षा कम थे। मगर हफ्तेभर में ये आंकड़े लगातार 100 के पार जा रहे हैं। इन्हीं संक्रमित मरीजों में जांजगीर जिला अस्पताल के 43 लोग भी शामिल हैं। जो पिछले एक हफ्ते के अंदर ही संक्रमित हो गए हैं।

ये लोग हुए संक्रमित

इन संक्रमित डॉक्टर्स में हॉस्पिटल अधीक्षक डॉ अनिल जगत, चिकित्सा विशेषज्ञ, डेंटिस्ट, एनेस्थीसिया स्पेशलिस्ट, चाईल्ड स्पेशलिस्ट, कंप्युटर ऑपरेटर, नर्स, वार्ड ब्वॉय से लेकर चौकीदार तक शामिल हैं। बताया गया है कि 15 डॉक्टर्स के अलावा 15 स्टाफ नर्स, 3 कंप्यूटर ऑपरेटर, 2 लैब टेक्नीशियन और अन्य 7 लोग संक्रमण की चपेट में हैं। सभी का इलाज जारी है।

अब सिर्फ 5 के भरोसे अस्पताल

वहीं अगर इस अस्पताल में कुल डॉक्टर्स की बात की जाए तो यहां कुल 22 डॉक्टर्स पदस्थ हैं। जिसमें से 15 डॉक्टर इन दिनों संक्रमित हैं। एक डॉक्टर ट्रेनिंग पर गए हैं। एक डॉक्टर सस्पेंड हैं। कुल मिलाकर इन दिनों सिर्फ 5 डॉक्टरों के भरोसे ही अस्पताल संचालित है। यही सबसे बड़ी समस्या है।

कोविड मरीजों के लिए भी परेशानी बढ़ी

यहां परेशानी यहीं खत्म नहीं हो रही। जिला अस्पताल के पीछे कोविड अस्पताल भी बनाया गया है। पता चला है कि इन डॉक्टर्स में कई डॉक्टर्स ऐसे थे जो इन मरीजों का इलाज कर रहे थे। लेकिन अब ये पॉजिटिव हो चुके हैं। हालांकि जिले में ज्यादातर मरीजों का इलाज होम आइसोलेशन में चल रहा है। फिर भी कई मरीज ऐसे हैं जो इसी कोविड सेंटर में भर्ती हैं।

2 दिन से आ रहा हूं, इलाज नहीं मिला

अगर बात पूरे अस्पताल के स्टाफ की कि जाए तो यहां 22 डॉक्टर्स समेत कुल 215 स्टाफ हैं। जिसमें से 43 संक्रमित हैं। यहां हर रोज जिले भर से लोग इलाज करवाने के लिए आते हैं। लेकिन इन दिनों इलाज करवाने आ रहे मरीज काफी परेशान हैं। सक्ती से आए माखन सिंह का कहना है कि वो पिछले 2 दिनों से अस्पताल में दांत का इलाज करवाने आ रहा है। मगर दोनों दांत का इलाज करने वाले डॉक्टर संक्रमित हैं। जिसकी वजह से उसका इलाज नहीं हो पा रहा। यही हाल दूसरे मरीजों का भी है।

एक हफ्ते में 1556 मरीज, 2 मौत भी, आकंड़ा बढ़ता ही जा रहा

दिनमरीजमौत
7 जनवरी141
8 जनवरी176
9 जनवरी1901
10 जनवरी207
11 जनवरी255
12 जनवरी313
13 जनवरी2741
टोटल15562

जांजगीर में 10 महीने से RT-PCR लैब अधूरी:3 महीने से ताले में सीटी स्कैन मशीन; 55% पर अटका वैक्सीनेशन, नए साल के बाद 258 संक्रमित मिले

इस मामले को लेकर दैनिक भास्कर ने जिले के सीएमएचओ डॉ. एस आर बंजारे से भी बात करने की कोशिश की मगर उनसे बात नहीं हो सकी है। विभाग के कुछ दूसरे अधिकारियों का कहना है कि वैकल्पिक व्यवस्था बना रहे हैं। जल्द ही व्यवस्था सुधर जाएगी।

खबरें और भी हैं...