पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बिजली उत्पादन बंद:केएसके पावर प्लांट में 15 महीने बाद फिर से प्रोडक्शन बंद, कंपनी ने किया लॉकआउट

अकलतराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इंक्रीमेंट की मांग को लेकर कर्मचारियों ने की थी हड़ताल, कोयला फीडिंग भी अटका

केएसके महानदी पावर प्लांट में रविवार से लॉकआउट कर दिया है। पिछले पंद्रह महीने में यह दूसरा मौका है, जब प्लांट में लॉकआउट किया गया है। इसका एक कारण कंपनी ने ठेका श्रमिकों की इंक्रीमेट की मांग को बताया है। केएसके महानदी पावर कंपनी लिमिटेड नरियरा एनसीएलटी में जाने से बैंकों द्वारा नियुक्त अधिकारी की उपस्थिति में विगत 2 वर्षों से प्लांट का संचालन किया जा रहा है। प्लांट में 600 मेगावाट की तीन चिमनियों से वर्तमान में 1800 मेगावाट बिजली का उत्पादन बंद हो गया है। केएसके महानदी पावर कंपनी लिमिटेड नरियरा में मजदूर नाइट शिफ्ट में कार्य अंदर करते रहे प्लांट प्रबंधन द्वारा गेट के बाहर रविवार की सुबह प्लांट को लॉक डाउन करने का नोटिस चस्पा कर दिया गया। लॉकडाउन से प्लांट में कार्यरत तीन हजार मजदूरों के के सामने समस्या खड़ी हुई। पहली शिफ्ट में सुबह 6 बजे प्लांट के अंदर जाने वाले मजदूरों को मुख्य गेट के सामने ही रोक दिया गया। प्लांट प्रबंधन द्वारा 9 जनवरी को मुख्य गेट के पास कुछ मजदूरों द्वारा कोयले से लदे वाहनों को रोकने के अलावा मुख्य चिमनी के पास उत्पादन को रोकने के कारण लॉकडाउन करने की जानकारी दी गई।

इधर... प्लांट प्रबंधन ने नहीं रखा अपना पक्ष
एकाएक लॉक डाउन होने के संबंध में प्लांट प्रबंधक वेणुगोपाल राव के मोबाइल नंबर 99083-37778 पर संपर्क किया गया, लेकिन उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया, इसलिए उनका पक्ष नहीं मिल पाया।

अंदर तोड़फेाड़ जबकि प्लांट में बिना जांच कराए जाना मुश्किल
विगत 2 दिनों से प्लांट के अंदर कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़फोड़ करने की बात कही जा रही है। यह सवाल भी उठता है कि प्लांट के मुख्य गेट के सामने से बिना पास के किसी भी मजदूर को अंदर जाने नहीं दिया जाता, मजदूर अगर अपना पास भूल जाता है तो घर से पास लाने के बाद ही प्लांट के अंदर प्रवेश दिया जाता है तो फिर प्लांट के मुख्य गेट से असामाजिक तत्वों अंदर कैसे घुस गए और तोड़फोड़ भी कैसे हो गई। प्लांट प्रबंधन के इस दावा पर ही सवाल उठ रहा है। छग पावर मजदूर संघ के अध्यक्ष विश्वनाथ साहू ने बताया कि शनिवार रात नाइट शिफ्ट में प्लांट के अंदर सैकड़ों मजदूर कार्य कर रहे थे मजदूरों द्वारा प्लांट के अंदर किसी प्रकार के गतिविधि को रोकने के साथ-साथ प्लांट में उत्पादन कार्य ठप नहीं कराया है प्लांट प्रबंधन द्वारा सोची समझी रणनीति के तहत प्लांट को एकाएक लॉकडाउन करते हुए मजदूरों के प्रवेश पर रोक लगा दिया गया है।

शुरू कराने पहल की थी फिर लॉकडाउन हो गया
"केएसके महानदी पावर कंपनी लिमिटेड नरियरा द्वारा मजदूरों को विगत 3 वर्षों से इंक्रीमेंट नहीं दिया है। उनका वेतन भी नहीं बढ़ाया जा रहा है। मजदूरों के इंक्रीमेंट एवं वेतन बढ़ोतरी के संबंध में श्रम पदाधिकारी द्वारा भी पहल की जा रही थी। षड्यंत्रपूर्वक लॉक डाउन की घोषणा कर दी गई । 3000 मजदूरों के हितों को ध्यान में रखकर केएसके महानदी पावर कंपनी लिमिटेड प्रबंधन तत्काल प्लांट को चालू करना चाहिए।''
-मंजू सिंह, सदस्य, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी
वर्कर ने काम रोक दिया
"
ठेका श्रमिकों द्वारा इंक्रीमेंट बढ़ाने की मांग की थी। शनिवार को वर्कर ने प्लांट में काम रोक दिया। कोयला फीडिंग नहीं हो पाया। यहां उनका मैनेजमेंट है नहीं इसलिए प्रोडक्शन बंद हो गया है। कंपनी ने लॉकआउट कर दिया है।''
-केके सिंह, श्रम पदाधिकारी जांजगीर-चांपा

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

और पढ़ें