शिकायत / काम के बाद भी कम पैसा मिलने से भड़के मनरेगा मजदूर

MNREGA workers angry over getting less money even after work
X
MNREGA workers angry over getting less money even after work

  • रोजगार सहायक को हटाने की मांग, अधिकारी बोले गोदी कम कर रहे

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

अकलतरा. ग्राम पचरी में महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजनांतर्गत नया तालाब का गहरीकरण किया जा रहा है। गहरीकरण में लगे मजदूर 9 दिनों तक काम किए, लेकिन उनके खाता में मजदूरी की राशि कम आने पर मजदूरों ने कार्यक्रम अधिकारी को ज्ञापन  देकर शासन द्वारा निर्धारित दर पर मजदूरी का भुगतान और पचरी में रोजगार सहायक को हटाने की मांग की। 
मजदूर पुष्पेंद्र भारद्वाज एवं सुनित भारद्वाज ने बताया कि मनरेगा से गांव के नया तालाब का गहरीकरण किया जा रहा है। मजदूरों ने दो हफ्ते में 9 दिन तक कार्य करने के बाद उनके खाते में शासन द्वारा निर्धारित प्रतिदिन की राशि न देकर खाते में 560 रुपए से 565 रुपए ही दिया गया है। मजदूरों को प्रतिदिन 190 रुपए की दर से भुगतान न कर कम दर से भुगतान किए जाने से कोरोना वायरस के संक्रमण एवं लॉकडाउन होने से परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिसे लेकर मनरेगा के मजदूरों ने कार्यक्रम अधिकारी से शिकायत की है। ज्ञापन देने वालों में रघुवीर भारद्वाज, धीरेंद्र भारद्वाज, सुनील भारद्वाज, पुरुषोत्तम भारद्वाज, रामकुमार भारद्वाज, जगनिया भारद्वाज उपस्थित थे।
अपने मर्जी से काम करा रहे 
पचरी में मनरेगा में कार्य करने वाले मजदूरों ने बताया कि वर्तमान में जगमोहन केशकर द्वारा काम कराया जा रहा है। रोजगार सहायक द्वारा मजदूरों से दुर्व्यवहार करने के साथ-साथ अपनी मर्जी से काम करवाया जा रहा है। ग्राम पंचायत पचरी में जगमोहन केशकर को हटाने की मांग की गई है।
कम काम कर रहे इसलिए कम मजदूरी
"पचरी में मजदूरों को कम दर से मजदूरी का भुगतान करने की जानकारी मिली है । मजदूरों द्वारा निर्धारित मात्रा में गोदी नहीं खोदने से कम मजदूरी खाते में जमा की जा रही है। निरीक्षण कर मजदूरों की समस्या का हल किया जाएगा। रोजगार सहायक बदलने की मांग करने पर जांच की जाएगी।''
-एलपी राठौर, कार्यक्रम अधिकारी, मनरेगा, अकलतरा 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना