पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मनमानी:नपं अध्यक्ष ने कांग्रेस के एक भी पार्षद को नहीं लिया पीआईसी में

जांजगीर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नपं खरौद के अध्यक्ष कांति केशरवानी के खिलाफ कांग्रेस पार्षदों के लगाए गए आरोप सही साबित हो रहे हैं। पार्षदों की मदद से कांति अध्यक्ष तो बन गए पर पीआईसी में कांग्रेस के एक भी पार्षद को शामिल नहीं किया। पीआईसी में उन्होंने 4 भाजपाई और दो निर्दलीय पार्षदों को लिया है। नपं खरौद की राजनीति इन दिनों गरमाई है। कांग्रेस ने कांति कुमार केशरवानी को पार्षद का टिकट दिया। यहां से कांग्रेस के पांच पार्षद चुनाव जीते तो अध्यक्ष पद के लिए भी पार्टी ने कांति को अधिकृत कर दिया। पार्टी के पार्षद मुरारी यादव, जयंती भारद्वाज,कांति तुरकाने, हेमलता यादव ने कांति के पक्ष में सहमति दी। पार्षदों का आरोप है कि पार्टी द्वारा अध्यक्ष पद के लिए अधिकृत किए जाने के बाद से कांति ने पार्टी के पार्षदों की अनदेखी शुरू कर दी। भाजपाई और निर्दलीय पार्षदों को लेकर वे अज्ञातवास में चले गए। इस दौरान  पार्टी द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक राजेश पांडेय दो बार नगर पंचायत खरौद पहुंचे लेकिन उनकी कांति से एक बार भी  भेंट नहीं हो सकी। कांति ने भाजपाई पार्षदों को साथ ले लिया। पार्षदों का आरोप है कि भाजपा को उपाध्यक्ष पद देने का आॅफर किया गया। हालांकि नपं अध्यक्ष कांति इससे इनकार करते हैं। उनका कहना हेै कि पार्टी ने ही उपाध्यक्ष के लिए कोई उम्मीदवार नहीं उतारा। कांति निर्विरोध अध्यक्ष बन गए। इसके बाद उन्होंने पार्षदों के साथ भेदभाव करना शुरू कर दिया। पार्षदों के आरोप की पुष्टि भी होती है कि अध्यक्ष ने पीआईसी में पार्टी के 4 में से किसी एक को भी नहीं लिया है। 
पार्षदों ने कहा;अब अध्यक्ष उन्हीं लोगों के साथ रहें
पार्टी के उपेक्षित पार्षदों ने मामले की जांच करने पहुंचे पर्यवेक्षक शिशिर द्विवेदी से कहा है कि नगर पंचायत अध्यक्ष द्वारा लगातार उपेक्षा की जा रही है, इसलिए अब यह जरूरी है कि जिस पार्टी के लोगों को उन्होंने पीआईसी में लिया है। उसी पार्टी के साथ रहें, कांग्रेस के पार्षद उनके साथ नहीं रहना चाहते हैं। पार्षदों ने कांति के विरोध में इस्तीफा तक देने की पेशकश कर दी है। 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें