पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोरोना इफेक्ट:रक्षाबंधन व तीज पर न बेटियां आएंगी मायके, ना बहुएं जाएंगी, दूसरे गांव आने जाने पर लगा प्रतिबंध

जांजगीर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हसौद, जैजैपुर क्षेत्र की कई ग्राम पंचायतों के ग्रामीणों व सरपंचों ने लिया निर्णय

कोरोना का असर दिन ब दिन जिले में बढ़ता जा रहा है। जैजैपुर तहसील के हसौद कैथा, ओड़ेकेरा, झरप, असौदा के अलावा कुछ अन्य ग्रामों को कंटेनमेंट जाेन घोषित कर दिया गया है। जिसके कारण आसपास के गांव के लोग भी सहमें हुई हैं। इन पंचायतों में तो गांव से बाहर निकलने व गांव के अंदर आने पर प्रशासनिक पाबंदी लगी हुई है, लेकिन इन गांवों के आसपास के 15 से 20 किमी दूर की पंचायतों के लोगों ने भी अपने गांव में रक्षा बंधन पर बाहरी लोगों के आने व गांव से बेटी व बहुओं के जाने पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। जिले के कुछ ग्रामीणों ने कोरोना का संक्रमण रोकने अनूठी पहल की है। जहां कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए आने-जाने पर बैन लगा दिया गया है। यहां बेटियां मायके नहीं आएंगी और न ही बहुएं ससुराल से कहीं जाएंगी। सर्व सहमति से निर्णय लिया गया है कि इस बार कल पड़ने वाले रक्षाबंधन व तीज पर्व पर बहुओं को मायके नहीं भेजेंगे और न ही बेटियों को गांव बुलाएंगे। गांव से न कोई बाहर जाएगा और न ही दूसरे स्थानों से कोई गांव में प्रवेश करेगा, ताकि कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा ही न रहें। सिंघितराई की सरपंच सोनिया डनसेना और सलनी पंचायत के सरपंच टंकेश्वर चंद्रा ने भी ऐसा ही निर्णय लेकर आदेश भी जारी कर दिया है।

दूसरे जिले से आने वालों को लगेगा ई पास
दूसरे जिले से आने अथवा यहां से दूसरे जिला जाने वालों को भी आसानी से आने जाने की सुविधा नहीं मिलेगी। जिला दंडाधिकारी द्वारा इन परिस्थितियों के लिए ई पास अनिवार्य किया गया है। ई पास भी कार्य के इमरजेंसी को देखकर बनाया जा रहा है, इसलिए राखी के लिए ई पास मिलने की भी संभावना कम है।

15 निकायों में 6 अगस्त तक लाॅकडाउन
जिला प्रशासन द्वारा जिले के 15 नगरीय निकायों में कोरोना के कारण फिर से 6 अगस्त तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। इसी बीच में 3 अगस्त को रक्षाबंधन का पर्व पड़ेगा। इसलिए नगरों के चारों ओर से बेरिकेडिंग की गई है और इंट्रेंस व चेक पाइंट पर अलग अलग विभागों के कर्मचारियों की ड्यूटी भी लगाई गई है ताकि कोई भी अनावश्यक न आ जा सकें।

कोरोनाकाल को देखते हुए लिया गया निर्णय
"क्षेत्र में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, न जाने किस गांव में किसे कोरोना होगा इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। इसलिए गांव के बड़े, बुजुर्ग व महिलाओं की बैठक लेकर पंचायत ने यह निर्णय लिया है कि इस बार रक्षाबंधन में न तो कोई महिला, बहु राखी बांधने के लिए बाहर जाएगी न ही कोई दूसरे गांव से राखी बांधने या बंधवाने आ पाएगा। ऐसा सामूहिक निर्णय लिया गया है।''
-संतोषी लालजी चंद्रा, सरपंच, ग्राम पंचायत झालरौंदा

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - धर्म-कर्म और आध्यामिकता के प्रति आपका विश्वास आपके अंदर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर रहा है। आप जीवन को सकारात्मक नजरिए से समझने की कोशिश कर रहे हैं। जो कि एक बेहतरीन उपलब्धि है। ने...

और पढ़ें