ओमिक्रॉन को लेकर जांजगीर में अलर्ट:CMHO ने कहा-विदेश से आए लोगों की कड़ाई से जांच हो; एक दिन में ही बढ़ी मरीजों की संख्या

जांजगीर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के भारत में 2 केस मिलने के बाद अब छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। यहां एक दिन में ही 3 मरीज मिलने के बाद से प्रशासन की चिंता भी बढ़ गई है। इसलिए अब टेस्टिंग बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं। वहीं CMHO एसआर बंजारे ने निर्देश दिए हैं कि विदेश से आए लोगों की कड़ाई से जांच हो, उन पर पैनी नजर रखी जाए।

प्रशासन ने राज्य और केंद्र सरकार के निर्देश मिलने के बाद तैयारियां तेज कर दी हैं। CMHO एसआर बंजारे ने बताया कि जिले में ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता बढ़ाई गई है। जिले में पहले 228 एलपीएम (लीटर पर मिनट) की क्षमता वाला प्लांट संचालित था। अब 1000 एलपीएम और 500 एलपीएम का प्लांट स्वीकृत होने के बाद 500 एलपीएम का नया प्लांट भी इंस्टाल हो गया है। इससे कोरोना से लड़ाई में मदद मिलेगी। इसी प्रकार सक्ती में 250 एलपीएम वाला ऑक्सीजन प्लांट पहले से ही संचालित है।

450 ऑक्सीजन बेड की सुविधा

CMHO ने बताया कि अभी जिले में 450 ऑक्सीजन बेड के साथ ही 600 सामान्य बेड उपलब्ध हैं। सभी कोविड सेंटर्स को फिर से एक्टिव किया जा रहा है। इसके साथ ही सभी मेडिकल स्टाफ को दोबारा बेहतर तरीके से प्रशिक्षित किया जा रहा है, ताकि किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें।

18 प्लस के 82 प्रतिशत लोगों को लगा टीका

प्रशासन ने बताया कि हालांकि अभी तक विदेश से कोई भी यात्री जिले में नहीं आया है, मगर हमें पहले से अलर्ट रहना है। वहीं अगर बात जिले में वैक्सीनेशन की जाए तो 82 प्रतिशत 18 प्लस के लोगों ने टीके का पहला डोज लगवा लिया है। 40 प्रतिशत से अधिक लोगों ने दूसरा डोज लगवा लिया है। बताया गया कि जिन लोगों ने भी अभी वैक्सीन नहीं लगवाया है, उनके आंकड़े ब्लॉक स्तर पर दिए जा चुके हैं। जिससे उनकी पहचान करके उन्हें वैक्सीन लगाया जा सके।

05, 07 और 09 दिसंबर को वैक्सीनेशन का महाअभियान

जिले में बचे हुए लोगों को वैक्सीन लगवाने 5 दिसंबर, 07 दिसंबर और 09 दिसंबर को ब्लॉक स्तर पर टीकाकरण का महाअभियान चलेगा। जिसके तहत स्वास्थ्यकर्मी गांव-गांव और घर-घर पहुंचकर कोविड का टीका लगाएंगे।

किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेंगे

सीएमएचओ ने कहा कि हमारे जिले में पर्याप्त संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वेंटीलेटर मशीन और जरूरी संसाधन उप्लब्ध हैं। उन्होंने कहा कि हमारा जिला हाई अलर्ट मोड पर है। इसके तहत कोई भी लापरवाही बरती नहीं जाएगी। राजस्व और पुलिस दल को भी व्यवस्था बनाने के निर्देश कलेक्टर और एसपी ने जारी कर दिए हैं। सीएमएचओ ने कहा बिना मास्क घूमने और कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

ओमिक्रॉन के खतरे के बीच विदेश से आए 55 लोग:विदेश मंत्रालय ने सौंपी सूची, कहा- लौटने वालों ने दिया छत्तीसगढ़ का एड्रेस

इसलिए भी बढ़ी चिंता

जिले में अगर कोरोना आंकड़े की बात की जाए तो अब तक 57661 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। जिलेभर में अब तक एक सप्ताह के अंदर 06 नए केस मिले हैं। इसमें से गुरुवार को ही अकेले 3 केस सामने आए। जबकि 29, 30 और 01 नवंबर को एक भी केस नहीं आया था।

26,27 और 28 नवंबर को एक-एक केस मिले थे। जिले में अब तक कोरोना की वजह से 840 मरीजों की जान जा चुकी है। वहीं चिंता की बात यह भी है कि गुरुवार को प्रदेश भर में पिछले दिनों की अपेक्षा में कोरोना के अधिक केस मिले। गुरुवार को 22 हजार 626 नमूनों की जांच हुई। इसमें 37 लोग संक्रमित पाए गए थे।

खबरें और भी हैं...