पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

घटना:क्रोकोडाइल पार्क में मगरमच्छों की शिफ्टिंग बंद, तालाब में 2 मगरमच्छों की लड़ाई में एक की मौत

अकलतराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोटमीसोनार के तालाबों में लगातार मगरमच्छ मिलने के बाद भी वन विभाग उनको पकड़कर क्रोकोडायल पार्क में शिफ्ट नहीं कर रहा है। बुधवार को दो मगरमच्छ आपस में लड़ बैठे, जिसमें एक मगर की जान भी चली गई। कोटमीसोनार के तालाबों में लगातार मगरमच्छों की संख्या बढ़ने से 2006 में कोटमीसोनार में क्रोकोडायल पार्क का भूमिपूजन किया। 2008 में क्रोकोडायल पार्क शुरू हुआ तो विभाग ने मगरमच्छों को पार्क में शिफ्ट करना शुरू किया। गांव के कुछ युवकों को मगरमच्छों को पकड़ने का प्रशिक्षण के लिए चेन्नई नेशनल पार्क भेजा गया। वहां से लौटकर आने युवकों को काम में नहीं रखा गया। वन विभाग पहले मगरमच्छों को पकड़ने पर प्रोत्साहन राशि देती थी पर पांच वर्ष से यह भी बंद कर दिया है। दो दिनों पूर्व गांव के पथरीला तालाब में मछली पकड़ने के दौरान दो मगरमच्छ फंस गए। दोनों को पार्क में शिफ्ट किया था। एक दिन पूर्व पार्क से लगे हुए उपरोहित तालाब मे भी 5 फीट का मगरमच्छ दिखाई देने पर ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना देने पर मगरमच्छ को पकड़कर लाया। वर्तमान में यहां 310 मगरमच्छ हैं। वन विभाग मगरमच्छों को पकड़कर क्रोकोडायल पार्क मे शिफ्ट नहीं करने से गांव वालों की परेशानी बढ़ गई है।

क्रोकोडायल पार्क में तीन मगरमच्छ हुए शिफ्ट
"वन विभाग द्वारा गांव में सूचना मिलने पर समय-समय पर मगरमच्छों को क्रोकोडायल पार्क में शिफ्ट करने का कार्य किया जाता है। मछली की जाल में मिले तीन मगरमच्छों को पार्क में शिफ्ट कराया गया है। मगरमच्छ पकड़ने पर ग्रामीणों को अनुदान राशि क्यों बंद की गई है, इसकी जानकारी नहीं है।''
-संतोष यादव, प्रभारी क्रोकोडायल पार्क कोटमीसोनार

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें