पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिम्मेदारों पर कार्रवाई नहीं:नहर की ऐसी मरम्मत, बोरियाें से पानी रोकने का प्रयास

अकलतरा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सिंचाई विभाग द्वारा मिनीमाता हसदेव बांगो परियोजना के अंतर्गत खटोला शाखा नहर में ग्राम कटघरी के सेमरिया बहरा से पोड़ीदलहा माइनर तक 5 माह पूर्व 3 करोड़ रुपए की लागत से नए टो वाल का निर्माण किया गया था। गुणवत्ता हीन कार्य होने से नहर टूट गई। प्लास्टर एवं बेस पानी में बहने के कारण खटोला शाखा नहर में पानी बंद करना पड़ा।

अब इस टूटी हुई नहर की मरम्मत के नाम पर इसमें केवल रेत से भरी बोरियां व मुरूम से बांधने का प्रयास किया जा रहा है। दो दिनों से सिंचाई विभाग द्वारा क्षतिग्रस्त नहर पर रेत की बोरियां बिछाने व मुरूम डाल कर खानापूर्ति की जा रही है ताकि पानी के बहाव को आगे पहुंचाया जा सके। ग्राम कटघरी एवं पोड़ीदलहा के किसानों ने बताया कि गुणवत्ता हिन कार्य के चलते नहर का बड़ा हिस्सा पानी में बह गया। इसका खामियाजा आसपास के गांव के किसानों को भुगतना पड़ रहा है। अस्थाई कार्य से नहर दोबारा फूटने की संभावना भी बनी रहेगी साथ ही टेल एरिया तक नहर का पानी पहुंचेगा या नहीं इस पर भी प्रश्न चिन्ह लग गया है। ग्राम कटघरी के किसान सरजू यादव द्वारा 2 एकड़ में लगाई गई धान की फसल पानी के तेज बहाव में बह गई है।

खबरें और भी हैं...