पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाह अफसर:क्लिनिक चार बार हुई सील फिर भी झोलाछाप डॉक्टर कर रहा था इलाज, महिला की हुई मौत

हसौद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सील तोड़ने के बाद भी नहीं की कार्रवाई इसलिए इलाज से मौत के मामले आ रहे सामने

नर्सिंग होम एक्ट के उल्लंघन, बिना अनुमति क्लिनिक चलाने के कारण जिस क्लीनिक को पहले भी 4 बार स्वास्थ्य विभाग ने सील किया, उस क्लिनिक का सील तोड़कर तथाकथित बंगाली डॉक्टर सुब्रतो दास लोगों का इलाज नियमित रूप से कर रहा था। मंगलवार को नरियरा की एक महिला की बॉटल चढ़ाने के दौरान मौत हो गई। परिजन ने गलत इलाज का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। सूचना पर नायब तहसीलदार व टीआई पहुंचे और क्लिनिक को फिर से सील कर दिया है। जिले में नर्सिंग होम एक्ट का पालन कराने के लिए जिस विभाग के जिम्मेदार पदाधिकारियों की जिम्मेदारी दी है, वे उसमें कैसे लापरवाही बरत रहे हैं, इसका बड़ा उदाहरण सामने आया है। ग्राम हसौद में तथाकथित बंगाली डॉक्टर सुब्रतो दास बंगाली क्लिनिक का संचालन करता है। संचालक ने नर्सिंग होम एक्ट के तहत क्लीनिक संचालन करने की अनुमति भी नहीं ली है। इसके बावजूद उसमें इलाज किया जा रहा है। शिकायत मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा पहले भी चार चार बार उस क्लीनिक को सील कर चुका है, लेकिन सुब्रतो दास सीलिंग को तोड़कर फिर से अपनी दुकानदारी शुरू कर दी थी, लेकिन स्वास्थ्य विभाग वालों ने कोई कार्रवाई ही नहीं की। मंगलवार को नरियरा की महिला रहीम बाई (65 वर्ष) पति घसिया राम साहू को बीमार होने पर उसके परिजन इसी डॉक्टर के पास लेकर गए थे। तथाकथित डॉक्टर द्वारा उसका इलाज करते हुए बॉटल चढ़ाई गई। इसी दौरान महिला की तबीयत बिगड़ी और उसकी मौत हो गई। विभाग को पता चला तो मौके पर पहुंची।

संभाला... हंगामा के बाद चक्काजाम करने की कोशिश
महिला की मौत के बाद महिला के आक्रोशित परिजन ने गलत इलाज करने का आरोप लगाते हुए क्लिनिक में हंगामा किया। इसके बाद चक्काजाम करने की कोशिश की जाने लगी। अधिकारी नायब तहसीलदार केके पाटनवार, टीआई एमएम मिंज को सूचना मिलने पर दोनों अपने टीम के साथ पहुंचे। परिजन को समझाइश देकर शांत कराया।

ग्रामीणों बोले: संचालक ने बार-बार तोड़ी सील
नायब तहसीलदार केके पाटनवार ने बताया कि ग्रामीणों ने उन्हें इसकी जानकारी दी है कि इस क्लीनिक को पहले भी स्वास्थ्य विभाग चार बार सील कर चुकी है। इसके बाद भी संचालक सील को तोड़कर क्लीनिक का संचालन शुरू कर देता है।

सील तोड़ने के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई
स्वास्थ्य विभाग अवैध क्लीनिक को चार बार सील कर चुकी है और संचालक हर बार सीलिंग तोड़ देता है। इसके बाद भी विभाग द्वारा एक बार भी उसके खिलाफ सरकारी काम में बाधा डालने का मामला दर्ज नहीं किया गया। इससे उनकी कार्रवाई करने पर भी लोगों को संदेह है।
कार्रवाई की गई है
नायब तहसीलदार केके पाटनवार ने बताया कि क्लीनिक संचालक मौके से फरार हो गया, लेकिन उसके क्लीनिक को सील कर दिया है, क्योंकि सील नहीं करने पर वहां रखी दवाइयों को इधर उधर कर सकता था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser