पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑनलाइन परीक्षा की तैयारी:परीक्षा के वक्त साइट क्रैश न हो इसलिए छात्र संख्या के हिसाब से बनेगा शेड्यूल

जांजगीर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सब कुछ ठीक रहा तो कॉलेजों की ऑनलाइन परीक्षा 25 मई से हो सकता है बदलाव भी संभव, आंसरशीट की व्यवस्था स्वयं करनी पड़ सकती है विद्यार्थियों को

कोरोना के बढ़ते संक्रमण और लॉकडाउन के बीच आखिर कॉलेजों के लिए ऑनलाइन परीक्षा की तैयारी बीयू ने शुरू कर दी है। परीक्षा की प्रस्तावित तिथि 25 मई है। यदि सबकुछ ठीक रहा तो परीक्षाएं तय समय पर शुरू की जाएगी। इसके अनुरूप ही परीक्षा की समय सारिणी भी बनाई जा रही है। बीयू समय सारिणी छात्र संख्या के आधार पर तैयार कर रही है। ताकि प्रश्न पत्र देखते वक्त साइट क्रैश होने की वजह से छात्रों को किसी तरह असुविधा न हो।

परीक्षा विभाग अंडर ग्रेजुएशन के बीए, बीएससी, बीकॉम व अन्य विषयों के छात्रों की संख्या और कक्षाओं के आधार पर प्रश्नपत्र शेड्यूल मेल प्राचार्यों को और साइट पर अपलोड किया जाता है। इस प्रश्नपत्र को देखने के लिए एक समय पर बड़ी संख्या स्टूडेंट्स अपनी आईडी पासवर्ड से प्रश्नपत्र ओपन करते हैं। इस दौरान साइट पर लोड अधिक होने के कारण साइट क्रैश होने का खतरा होता है। पिछले साल भी साइट स्लो होने से स्टूडेंट्स को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। इसलिए इस बार यूनिवर्सिटी इसके हिसाब से ही समय सारिणी तैयार कर रही है। परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए यूनिवर्सिटी समय सारिणी 25 मई से पहले जारी करेगी। इस बार भी परीक्षा की पूरी प्रक्रिया बीते वर्ष की तरह ही होगी। इस संबंध में भी दिशा निर्देश थोड़े समय बाद जारी किए जाएंगे।

आंसरशीट स्वयं बनाना होगा छात्र रहें तैयार
पिछले साल यूनिवर्सिटी ने कॉलेजों के माध्यम से आंसर शीट वितरण कराए थे, लेकिन कॉलेजों में छात्रों की भीड़ जुटने के कारण इसे रद्द कर स्वयं आंसरशीट की व्यवस्था छात्रों को करने के निर्देश जारी किए। इस बार भी यूनिवर्सिटी छात्रों को ही आंसरशीट की व्यवस्था करने को कहेगी, लेकिन लॉकडाउन में स्टेशनरी आदि बंद है। 16 मई के बाद यदि लॉकडाउन की अवधि बढ़ाई गई तो मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

एक समय पर 99 हजार लोगों ने देखा था प्रश्न पत्र
पिछले साल ऑन लाइन परीक्षा के दौरान एक समय पर 99 हजार छात्रों ने प्रश्नपत्र देखा था, इसके बाद भी साइट क्रैश नहीं हुई थी। इसलिए कॉलेज इसके अनुरूप ही इससे कम छात्र संख्या के आधार पर अलग-अलग समूहों और समय पर बच्चों को प्रश्न पत्र भेजेगी, ताकि परीक्षा के दौरान किसी तरह की दिक्कत न हो।

परीक्षा बीयू लेगी, रिजल्ट एनकेपी का मिलेगा
जनवरी में बिलासपुर के अटल बिहारी बाजपेयी व रायगढ़ के नंद कुमार पटेल यूनिवर्सिटी के बीच एमओयू हुआ था। जिसके मुताबिक इस शैक्षणिक सत्र में परीक्षा बीयू लेगी, लेकिन जांजगीर और रायगढ़ के कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों को रिजल्टी शहीद नंद कुमार पटेल यूनिवर्सिटी के नाम से मिलेगा।

कोशिश यही कि साइट क्रैश न हो
एक समय पर हजारों की संख्या में छात्र प्रश्नपत्र ओपन करते हैं, इससे साइट क्रैश होने का खतरा बढ़ जाता है। परीक्षा के दौरान इस तरह की स्थिति निर्मित न हो इसलिए छात्रों की संख्या के आधार पर समय सारिणी तैयार करा रहे हैं। सब कुछ ठीक रहा तो प्रस्तावित तिथि 25 मई से परीक्षा शुरू होंगे। नहीं तो इसमें परिवर्तन भी किया जा सका है।''
-प्रवीण पांडे,परीक्षा नियंत्रक बीयू बिलासपुर

खबरें और भी हैं...