पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दबंगई:युवक की पत्नी बोली: गाड़ी में बैठे ताे होश में थे, पुलिस की पिटाई से हालत गंभीर

जांजगीर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मेंऊभांठा से एक युवक को डायल 112 की टीम लेकर आई थी पामगढ़, सिर में चोट लगने से युवक की हालत गंभीर, बिलासपुर किया गया रेफर, पुलिस का दावा: थाना में नहीं हुई मारपीट, नशे में गिरकर घायल हुआ

मेंऊभांठा में आपस में लड़ रहे दो युवकों में एक युवक मयाराम शास्त्री को दूसरे युवक की सूचना पर डायल 112 की टीम पामगढ़ थाना लाई थी। पुलिस के अनुसार युवक के पास कट्‌टा मिला था। वह थाना में भी स्टॉफ से गाली गलौज कर रहा था। उसे मुलाहिजा के लिए सीएचसी पामगढ़ ले जाया गया। अस्पताल में उसे बेहोश अवस्था में स्ट्रेचर में रखा गया था। डॉक्टर ने सिर की चोट को देखते हुए रेफर किया। परिजन उसे लेकर बिलासपुर जा रहे थे पर पुलिस ने एंबुलेंस को मुलमुला से कब्जे में लेकर जिला अस्पताल ले आई। यहां से उसे बिलासपुर रेफर किया गया। पीड़ित की पत्नी कुमारी शास्त्री ने पुलिस पर पति के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है। पामगढ़ थाना क्षेत्र के मेंऊभांठा निवासी मयाराम शास्त्री और संतोष बंजारे के बीच बुधवार की सुबह विवाद हो गया था। आरोप है कि विवाद के दौरान ही दयाराम शास्त्री ने कट्‌टा निकाल लिया था। इस पर संतोष बंजारे ने डायल 112 की टीम मौके पर बुलाई।

युवक के खिलाफ मारपीट व आर्म्स एक्ट की लगी धारा
पामगढ़ पुलिस ने पीड़ित युवक मयाराम के खिलाफ किशन नामक युवक की रिपोर्ट पर मारपीट करने व कट्‌टा रखने के आरोप में धारा 294, 506, 25,27 ऑर्म्स एक्ट के तहत मामला भी दर्ज किया है। इसी अपराध के कारण पुलिस ने उसका इलाज अपनी कस्टडी में कराया।
मुलमुला से पुलिस लेकर आ गई जांजगीर
सीएचसी से रेफर करने पर उसकी पत्नी कुमारी बाई अपने पति को लेकर बिलासपुर जा रही थी, मुलमुला के पास तक पहुंच भी गई थी पर उसे बिलासपुर से पहले पुलिस ने रोक लिया। दो आरक्षकों ने एंबुलेंस का पीछा किया और उसे जांजगीर लेकर आ गए।

पैरदान पर पैर न रखकर उतरा तो गिरने से लगी चोट
पुलिस का सिर में गंभीर चोट के मामले में अपना अलग तर्क है। थाना प्रभारी यह तो कह रहे हैं कि थाना में किसी प्रकार की मारपीट नहीं हुई है। उनका कहना है कि आरक्षकों ने उन्हें बताया कि अस्पताल में उतरते समय उसने पैरदान में पैर नहीं रखा और गिरने से सिर में चोट लगी है।

पढि़ए, घायल की पत्नी ने पुलिस पर लगाया यह आरोप
गांव का एक लड़का हमेशा झगड़ा करता था, पैसे की मांग करता था। पत्थर मंगाए थे तीन ट्रॉली लेकिन उससे नहीं मंगाए थे, इसलिए उसकाे पैसा देने से मना करते थे तो झगड़ा होता था। मोहल्ले में राजकुमार नाम के दो लड़के हैं। बुधवार की सुबह मरे पति का दूसरे राजकुमार से विवाद हो रहा था तो एक अन्य राजकुमार खुद को गाली दे रहा समझकर आया और मारपीट करने लगा। तब तक मेरे पति को चोट नहीं लगी थी। इसके बाद पुलिस वाले आए और गाड़ी में भर कर ले गए। गाड़ी में चढ़ते समय होश में था। पुलिस वालों ने मारा है जिसके कारण बेहोश हो गया है। अब थाना में मारा है कि गाड़ी नहीं पता।
(जैसा पीड़ित युवक की पत्नी कुमारी बाई ने जांजगीर में बताया)

पिटाई नहीं हुई: थाना प्रभारी
"मेंऊभांठा में विवाद की सूचना डायल 112 की टीम को मिली थी। आरोपी नशे में था। स्टॉफ से गाली गलौज कर रहा था। उसे मुलाहिजा के लिए सीएचसी भेजा, तब वह होश में था। संतोष की रिपोर्ट पर धारा 294, 506, 25, 27 ऑर्म्स एक्ट में अपराध दर्ज किया गया है। आरोपी के पास कट्‌टा मिला है। आरक्षकों ने बताया है कि नशे के कारण वह गाड़ी से उतरते समय पैरदान में पैर नहीं रखा और जमीन में गिरने से सिर में चोट आई।''
-आरएल टोंडे, एसआई, थाना प्रभारी

मरीज बेहोश था: डॉक्टर
"11.30 बजे स्ट्रेचर से मरीज को लाए थे। सिस्टर की सूचना पर देखने गया। सिर से खून निकल रहा था। उसके छाती में चुटकी काटी तो शरीर में हलचल नहीं हुई। शराब की बदबू आ रही थी। पुलिस वालों ने चोट कैसे लगी यह नहीं बताया। सिर में टी आकार की चोट थी। 8 टांके लगाए गए। होश नहीं आने पर उसे रेफर किया। हाथ वगैरह में भी कहीं कहीं पर छिला था, कपड़े फटे थे। निजी एंबुलेंस में लेकर उसके घरवाले गए।''
-डॉ. हेमंत लहरे, सीएचसी, पामगढ़

खबरें और भी हैं...