पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नई शिक्षा नीति:जिले में विरोध करेंगे सभी प्रेरक

जशपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नई शिक्षा नीति के विरोध में प्रेरक संघ के द्वारा 8 सितंबर को विश्व साक्षरता दिवस के अवसर पर नई शिक्षा नीति के विरोध में धरना प्रदर्शन कर, पुतला दहन करने का निर्णय लिया गया है। संघ के जिला अध्यक्ष गौतम यादव ने बताया कि संघ के सदस्य सुबह साढ़े 10 बजे रणजीता स्टेडियम में एकजुट होंगे।

इस आंदोलन के दौरान कोरोना प्रोटोकाल का सख्ती से पालन किया जाएगा। पुतला दहन के बाद रैली निकाल कर मुख्यमंत्री और राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौपा जाएगा। जानकारी के लिए बता दें कि निरक्षरता मुक्त भारत के सपने को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार के साक्षरता मिशन के तहत वर्ष 2006-7 में प्रेरकों की भर्ती की गई थी। महज 2 हजार रुपये के मानदेय में प्रेरकों को पंचायत और ग्राम स्तर पर निरक्षर लोगों को इस मिशन से जोड़ कर अक्षर ज्ञान प्राप्त करने के लिए प्रेरित करने की जिम्मेदारी दी गई थी। इस लक्ष्‌य को पूरी मेहनत से प्रेरकों ने प्राप्त किया। वर्ष 2018 में तात्कालीन भाजपा सरकार ने मिशन पूर्ण होने की घोषणा करते हुए, साक्षरता अभियान को बंद कर दिया था। इससे प्रदेश के हजारों प्रेरक बेरोजगार हो गए। बेरोजगारी और तंगहाली से जूझ रहे इन प्रेरकों को 2018 के विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के जन घोषणा पत्र ने उम्मीद की नई किरण दिखाई।

खबरें और भी हैं...