'जशपुर' पर मुआवजे की राजनीति:मृतकों के परिजन को 50 लाख देगी सरकार, एक करोड़ की मांग पर आज बंद; CM बोले- भाजपा राजनीति न करे

जशपुर3 महीने पहले
जशपुर में दशहरा के दिन हुई घटना के बाद मुआवजे का ऐलान सरकार ने किया है।

छत्तीसगढ़ में जशपुर के पत्थलगांव में हुई घटना के बाद अब मुआवजे की राजनीति शुरू हो गई है। राज्य सरकार ने मृतकों के परिजनों को 50 लाख रुपए देने घोषणा की है। भाजपा ने मृतकों के परिजन को एक करोड़ और घायलों को 25-25 लाख रुपए देने की मांग की है। इसे लेकर शनिवार को जशपुर बंद का ऐलान किया गया है। इस पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि भाजपा पहले आपस में तय कर ले। उनका हर नेता अलग-अलग मांग कर रहा है।

मुख्यमंत्री ने स्थानीय विधायक रामपुकार सिंह से चर्चा के बाद मुआवजे की घोषणा की है। स्थानीय लोगों का कहना है कि घटना के समय ड्यूटी पर मौजूद सभी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया जाए और 75 लाख रुपए का मुआवजा मिले। घटना में घायल 4 लोगों को रायगढ़ मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। दूसरी ओर घटनास्थल पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने एसपी को हटाने की मांग की। कहा, गांजा तस्करी के चलते घटना हुई है।

तेज रफ्तार कार लोगों को कुचलकर आगे निकल गई। उसकी टक्कर से कई लोग उछलकर दूर जा गिरे।
तेज रफ्तार कार लोगों को कुचलकर आगे निकल गई। उसकी टक्कर से कई लोग उछलकर दूर जा गिरे।

मुख्यमंत्री ने कहा- भाजपा घटना पर राजनीति न करे
दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एयरपोर्ट पर मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता अलग-अलग मुआवजा राशि की मांग कर रहे हैं। रमन सिंह 50 लाख कहते हैं, नेता प्रतिपक्ष 75 लाख रुपए की मांग कर हैं, कोई एक करोड़ कह रहा है। उन्होंने कहा कि मृतक परिवार को बहुत बड़ा नुकसान हुआ है। उसकी भरपाई रुपयों से नहीं की जा सकती है। ऐसी घटना पर निश्चित रूप से सरकारी सहायता दी जाती है। भाजपा इस पर राजनीति न करे।

गांजा तस्करों ने धार्मिक जुलूस में शामिल लोगों को कुचल दिया था
एक दिन पहले ही दशहरा के दिन जशपुर के पत्थलगांव में गांजा तस्करों ने कार से धार्मिक जुलूस में शामिल लोगों को कुचल दिया था। यह सभी लोग स्थानीय दुर्गा पूजा पंडाल से मूर्ति विसर्जन के लिए निकले थे। जुलूस में करीब 150 लोग शामिल थे। इसमें एक युवक की मौत हो गई, जबकि 26 लोग घायल हुए हैं। इनमें 4 की हालत गंभीर है। तस्कर ओडिशा से मध्य प्रदेश के सिंगरौली ले जा रहे थे। घटना के बाद लोगों ने कार में आग लगा दी। राज्य सरकार ने एएसआई के सस्पेंड और टीआई को लाइन अटैच किया है।