कवर्धा की घटना का विरोध:छग को जलता छोड़ यूपी चले गए सीएम:राय

जशपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुतले की आग बुझाते जवान। - Dainik Bhaskar
पुतले की आग बुझाते जवान।

कवर्धा में दो समुदायों के बीच हुई झड़क के बाद बने तनाव के हालात को लेकर भाजपा के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार को शहर के बस स्टैंड में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला फूंकते हुए नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस प्रशासन ने पुतला दहन रोकने के लिए कड़े इंतजाम किए थे, पर पुलिस कर्मियों को चकमा देते हुए भाजपा के कार्यकर्ताओं ने पुतले को आग के हवाले कर दिया। बाद में पुलिस कर्मी जलते हुए पुतले पर कंबल डालकर बुझाने की कोशिश में लगे रहे।

भाजयुमो के प्रदेश कार्य समिति सदस्य नीतिन राय ने बताया कि कवर्धा में तनाव की स्थिति बनी हुई है। शासन प्रशासन से स्थिति सम्हाले नहीं सम्हल पा रही है। ऐसे कठिन वक्त में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल,प्रदेश की चिंता छोड़ कर पार्टी के आकाओं को खुश करने के लिए उत्तर प्रदेश में जाकर बैठे हुए हैं। भाजपा का आरोप है कि सीएम प्रदेश की जनता की चिंता करना छोड़कर अपना और कांग्रेस के हितों को प्राथमिकता दे रहे है। मंडल अध्यक्ष संतोष सिंह ने बताया कि महज ढाई साल के कांग्रेस के कुशासन में प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है।

कोतबा में भी प्रदर्शन
कवर्धा में हुई घटना व मुख्यमंत्री के उत्तरप्रदेश में जाकर राजनीति करने के विरोध में भाजपा के कार्यकर्ताओं ने कोतबा के बस स्टैंड में भी पुतला दहन किया। यहां हुए पुतला दहन में अजय गुप्ता, विजय शर्मा, उमाशंकर भगत, मनीष पटेल, जागेश्वर यादव, शकीला कवर सहित कोतबा भाजपा मण्डल, महिला मोर्चा व युवा मोर्चा के कार्यकर्ता शामिल हुए। चौकी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जलते हुए पुतले को बुझाकर उसे जब्त कर लिया।

खबरें और भी हैं...