पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:डॉक्टर और लैब टेक्नीशियन के झगड़े में मरीज हुए परेशान, बिना इलाज कराए ही मरीज लौटे घर

जशपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के एक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सक एवं लैब टेक्नीशियन के बीच विवाद होने से मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ा और उन्हें बिना इलाज कराए ही घर लौटना पड़ा। मिली जानकारी के अनुसार रनपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बुधवार को उस समय जमकर हंगामा हुआ जब चिकित्सक व लैब टेक्नीशियन आपस में भिड़ गए। दोनों के मध्य विवाद की स्थिति देख अस्पताल परिसर में अफरा तफरी की स्थिति निर्मित हो गई और कुछ मरीज बिना इलाज कराए घरों में चले गए। बताया जाता है कि साल भर पूर्व दोनों में जमकर विवाद हुआ था। जिस कारण दोनों का ट्रांसफर दूसरी जगह कर दिया गया था, लेकिन कुछ दिन पहले ही डॉक्टर दर्शन को वैकल्पिक व्यवस्था के तहत रनपुर भेजा गया, जबकि मंगलवार को ही टेक्नीशियन एली ग्लोरिया को भी वापस रनपुर पदस्थ कर दिया गया। एली ग्लोरिया मंगलवार को ही चार्ज लेकर बुधवार से ड्यूटी पर कार्यरत हो गई, लेकिन आज जब उक्त चिकित्सक के द्वारा मरीजों का इलाज किया जाने लगा और मरीजों को जांच के लिए लैब पर्ची बनाकर भेजा गया तो लैब टेक्नीशियन ने डॉक्टर की पर्ची को लेने से इंकार कर दिया। मरीजों ने इसकी जानकारी डॉक्टर को दी तो वे लैब पहुंचे और दोनों में विवाद शुरू गया। ऐसे में मरीजों को बिना इलाज कराए ही घर लौटना पड़ा।लैब टेक्नीशियन एलिगोलेरिया तिर्की का कहना है कि वह किसी भी मरीज को जांच नहीं करने की बात कहकर वापस नहीं लौटाई है। उसने जांच भी की है जो रजिस्टर में दर्ज है। उसे सिर्फ डॉ दर्शन से दिक्कत है। डॉ दर्शन का कहना है कि उन्हें वहां वैकल्पिक रूप से भेजा गया है। लैब टेक्नीशियन को उनसे तकलीफ है। इसलिए जांच करने से मना कर दी।

टेस्ट करने आदेश दिया है
"रनपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टर लैब टेक्नीशियन विवाद की जानकारी सीएमएचओ को दिया है। आपसी विवाद के कारण मरीजों का टेस्ट न करना दुखद बात है। मैने लेब टेक्नीशियन को तत्काल टेस्ट करने के आदेश दिए हैं।''
-डॉ. ए कुजूर, बीएमओ कुनकुरी

खबरें और भी हैं...