पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परीक्षा पैटर्न में बदलाव:बदलेगा एग्जाम पैटर्न, पूछे जाएंगे प्रतियोगी परीक्षाओं की तरह सवाल 9वीं से 12वीं तक के लिए तैयार की जा रही नई गाइडलाइन

जशपुरनगर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कॉम्पिटेंसी बेस्ड एजुकेशन की ओर बढ़ते हुए प्रश्नों की संख्या और असेसमेंट के तरीके में बदलाव होगा

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने सेशन 2021-22 से 9वीं से 12वीं तक के परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया है। अब 9वीं से 12वीं क्लास की परीक्षा में कॉम्पिटेंसी बेस्ड सवाल भी पूछे जाएंगे। कॉम्पिटेंसी बेस्ड एजुकेशन की ओर बढ़ते हुए सेशन 2021-22 से प्रश्न पत्र में प्रश्नों की संख्या और असेसमेंट के तरीके में बदलाव हो रहा है।

9वीं और 10वीं के क्वेश्चन पेपर में इन सवालों की संख्या 30 फीसदी होगी। जबकि, कक्षा 11वीं-12वीं में इन प्रश्नों की संख्या 20 फीसदी होगी। 9वीं से 12वीं तक के प्रश्न पत्र में शॉर्ट और लॉन्ग सवाल कम होंगे। यह व्यवस्था लगातार बढ़ते सेशन और प्रत्येक छात्र तथा उनके अभिभावकों का ध्यान कॅरियर की ओर होने की वजह इसमें बदलाव किया जा रहा है। पढ़ाई के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों को भी ध्यान में रखा जा रहा है। वैसे भी अधिकांश बच्चे जेईई मेन्स, जेईई एडवांस और नीट आदि प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी 9वीं कक्षा से ही शुरू कर देते हैं। इस बाद को ध्यान में रखते हुए परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया जा रहा है। कोशिश की जा रही है कि कक्षा की पढ़ाई के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं की भी तैयारी हो जाए।

30% मल्टीपल च्वॉइस प्रश्न होंगे, बाकी छोटे प्रश्न
9वीं और 10वीं के पेपर में 30% मल्टीपल च्वाइस, केस स्टडी और सोर्स आधारित सवाल होंगे। पहले 20% सवाल बहु विकल्पीय और प्रैक्टिकल बेस्ड होते थे। 60 प्रतिशत सवाल छोटे उत्तर वाले प्रश्न थे, लेकिन अब 50 प्रतिशत सवाल छोटे उत्तर वाले होंगे। इससे कोर्स के अधिकांश हिस्से के सवाल आने की उम्मीद है। इससे छात्रों को पूरे कोर्स की पढ़ाई करनी होगी। सिर्फ महत्वपूर्ण सवालों भर से अब काम नहीं चलेगा। इस तरह परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया जा रहा है।

छोटे उत्तर वाले 60 फीसदी सवाल, 20 % ऑब्जेक्टिव
11वीं-12वीं में 20% सवाल मल्टीपल च्वाइस और ऑब्जेक्टिव टाइप थे, अब 20% सवाल बहुविकल्पीय, केस स्टडी और सोर्स आधारित होंगे। 20 प्रतिशत सवाल वस्तुनिष्ठ होंगे। 70 प्रतिशत की बजाय अब 60 प्रतिशत सवाल छोटे उत्तर वाले होंगे। इससे छात्रों को प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने में आसानी होगी। साथ ही मूल्यांकनकर्ताओं को भी कॉपियां चेक करने में आसानी होगी। इसमें समय भी कम लगेगा। इससे परिणाम जल्दी घोषित करने में आसानी होगी।

15 मई तक प्रवेश, ऑनलाइन टेस्ट भी लिए जाएंगे
कक्षा 9वीं और 11वीं में यह प्रवेश प्रक्रिया 15 मई तक जारी रहेगी। इस बार 11वीं में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन क्लास भी शुरू की जा रही है। टेस्ट भी ऑनलाइन लिए जाएंगे। वजह है कि यदि किसी विद्यार्थी को लगता है कि उसे कोई दूसरा विषय लेना हैं तो वह उसे समय रहते बदल भी सकेंगे। यह सुविधा भी विद्यार्थियों को दी जा रही है। इससे उनकी पढ़ाई प्रभावित नहीं होगी और समय-समय पर यूनिट टेस्ट आदि भी दे सकेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें