तैयारी / टिड्‌डी दल के नुकसान से बचाव के लिए बनी टीम

Grasshopper team ... team made to avoid harm
X
Grasshopper team ... team made to avoid harm

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

जशपुर. टिड्डी दल के संभावित प्रकोप से फसलों के बचाव के लिए समय से पहले तैयारी  के निर्देश कृषि, उद्यानिकी, वन विभाग सहित जिले के अन्य विभाग प्रमुखों को दिए गए हैं। इसके लिए जिला एवं विकासखंड स्तर पर नियंत्रण कक्ष एवं नोडल अधिकारी नियुक्त किया है।
कलेक्टर श्री कावरे ने कहा है कि टिड्डे दल राजस्थान होते हुए मध्यप्रदेश  एवं महाराष्ट्र तक पहुंच गया है। इससे दलों का छत्तीसगढ़ राज्य में प्रवेश करने की आशंका है। टिड्डी दलों को रोकने एवं भगाने के लिए  63 सदस्यीय टीम एवं समस्त ग्राम स्तर पर भी 5 सदस्यीय टीम बनाई गई है। इसके अंतर्गत जिला स्तरीय 6 सदस्यीय टीम में वन मंडल अधिकारी  कृष्णा जाधव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जशपुर उजेना खातून अंसारी, उपसंचालक कृषि जशपुर एम. आर. भगत, सहायक संचालक कृषि जशपुर  कवच भगत, वस्तु विषय विशेषज्ञ  कृषि विस्तार कल्याण अधिकारी डुमरबहार  देवेन्द्र देवांगन एवं सहायक संचालक उद्यान जशपुर  आर. एस. भदोरिया शामिल है। इसी प्रकार जशपुर ब्लाक, बगीचा, पत्थलगांव और कुनकुरी ब्लाक में अफसरों को टिड्‌डी को भगाने की जिम्मेदारी दी गई है।

दिन में 130 किमी की रफ्तार से करते हैं सफर
कलेक्टर ने बताया कि टिड्डियों का झुंड दिन के समय उड़ता है। शाम होने पर 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक पेड़ों, झाड़ियों, फसलों में समय बिताते हुए। सुबह होने पर ये टिड्डी दल हवा की बहाव की दिशा में आगे बढ़ते है। अतः सबेरे 4 बजे से सूर्योदय तक रासायनिक क्लोरपायरीफाॅस का 20 प्रतिश ईसी 1200 मिलीलीटर या डेल्टामेथिन 2.8 ईसी 600 मिलीलीटर अथवा लेम्डासायलोथिन 5 ईसी 400 मिलीलीटर एवं डाईफ्लूबिनज्यूराॅन 25 डब्ल्यूटी 240 ग्राम 600 लीटर पानी में मिलाकर प्रति हेक्टेयर में छिड़काव करने के निर्देश दिए गए है।

टिडि्डयों को भगाने ग्राम स्तरीय दल करेंगे काम
कलेक्टर श्री कावरे ने बताया कि ग्राम स्तरीय दल के सदस्य टिड्डी दल के प्रकोप के संबंध में मुनादी के माध्यम से ग्रामीणों को  बचाव के उपाय बताएंगे। उन्होंने बताया कि टिड्डी दल अधिक ध्वनि सुनकर किसी पेड़ या फसल पर नहीं बैठते हुए आगे बढ़ जाते हैं। दल का अगर हमला होता है तक ध्वनि विस्तारक यंत्र मांदल, ढोलक, डीजे, टीन के डब्बे, थाली बजाने के साथ ही ट्रैक्टर के साइलेंसर को निकालकर चलाए जाए। साथ ही  पावर स्प्रेयर, शक्ति चलित स्प्रे पंप, हस्तचलित स्प्रे पंप इत्यादि को रासायनिक कीटनाशकों के छिड़काव, प्रकोप कि स्थिति में तत्काल प्रकोपित क्षेत्र में रासायनिक पहुंचाने के लिए अग्निशमन यंत्र को उप संभाग स्तर पर अधिग्रहित कर तैयार रखने कहा गया है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना