भास्कर में खबर छपने के बाद जनप्रतिनिधि और अफसर पहुंचे:नेता प्रतिपक्ष बोले-कोरवाओं के संरक्षण के लिए कोई काम नहीं कर रही सरकार

जशपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पहाड़ी कोरवाओं से मिलने पहुंची सांसद गोमती साय। - Dainik Bhaskar
पहाड़ी कोरवाओं से मिलने पहुंची सांसद गोमती साय।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने जशपुर जिले के बगीचा तहसील के सरधापाठ पकरीटोली में राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र पहाड़ी कोरवा जनजाति के 4 सदस्यों पर दुख जताते हुए कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार राष्ट्रपति के दत्तक पुत्रों के संरक्षण के दिशा में कुछ भी नहीं कर रही है। यही कारण है प्रदेश में लगातार हो रही मौतों के बाद भी प्रदेश सरकार द्वारा उनके सरंक्षण के लिए कोई ठोस पहल नही की जा रही है। इससे पूर्व भी राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र संरक्षित पंडों जनजाति के 20 लोगों की मौतें हो चुकी है।

इसके पीछे की वजह कुपोषण व स्वास्थ्य कारणों को माना गया है। उन्होंने कहा कि कुपोषण के नाम पर केवल खुद की प्रसिद्ध के लिए अभियान चला रहे है और जमीनी हकीकत कुछ और ही है। हालात जिस तरह के निर्मित हुए है, इससे यह स्पष्ट होता है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार लोगों के साथ ही ऐसे संरक्षित जनजाति के लोगों को भी बुनियादी सुविधा देने में असफल है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि प्रदेश में जनवरी 2021 से लेकर अब तक पहाड़ी कोरवा जनजाति के 15 लाेगाें की मौत हो चुकी है, लेकिन इन सबके बाद भी स्थानीय प्रशासन ने सबक लेकर कोई भी बेहतर कार्य नहीं किया है। राजनीतिक पर्यटन करने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इन प्रभावित इलाकों में कोई भी जिम्मेदार व्यक्ति नहीं पहुंच रहा है, जिसके कारण अव्यवस्था का आलम है और मौतें लगातार आम होती जा रही है।

उन्होंने मृतकों के परिजनों को तत्काल आर्थिक सहायता के साथ बेहतर चिकित्सा सुविधा के लिए उन इलाकों में चिकित्सकों की टीम भेजने की मांग की है।जबसे उल्टी दस्त से कोरवाओं की मौत की खबर आई है। उनके संरक्षक प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने शासन और प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने बयान में कहा कि जशपुर स्वास्थ्य विभाग के शर्मनाक घोटाला के उजागर होने के बावजूद पहाड़ी कोरवाओं का उल्टी दस्त से इलाज के अभाव में मौत प्रशासनिक लापरवाही की पराकाष्ठा है।

प्रबल का ये कटाक्ष जशपुर की लचर व्यवस्था व शासन और प्रशासन की अकर्मण्यता के प्रति उनकी भड़ास हैं। पिछले कई महीने से जशपुर में घोटालों की बरसात आई हुई है, पर अभी तक किसी मामले में पुख्ता कार्रवाई नहीं हो पाई है। ना ही शासन मुस्तैद दिखाई देता है। कोरोनाकाल के दौरान उजागर अनियमितता के बाद भी कोई प्रशासनिक कसावट कहीं दिखाई नहीं दी। गणेश राम भगत ने कोरवा जनजाति के लोगों की मौत की खबर की सूचना देते ही कलेक्टर के तत्काल गंभीर हो जाने व कार्यवाही पर कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल की सराहना की।

गणेश राम भगत ने कहा कि जैसे सूचना प्राप्त हुई कलेक्टर ने तत्काल क्षेत्रवासियों को मदद पहुंचाने पहल प्रारंभ कर दी यह एक सराहनीय पहल है। गणेश राम भगत ने कलेक्टर जशपुर को कोरवा जनजाति की समस्याओं से अवगत कराते हुए पूर्व में घटी घटनाओं के बारे में भी जानकारी दी। भगत ने इस दौरान यह भी कहा कि कुछ बिचौलिए हैं, जो कोरवा जनजाति को समाज की मुख्यधारा से जुड़ने देना नहीं चाहते हैं।

ऐसे शिविर में भी बिचौलियों के द्वारा भोले भाले कोरवा जनजाति समुदाय के लोगों को नहीं आने दिया जाता है। कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल ने पहाड़ी कोरवा बहुल क्षेत्र से जुड़ी सभी समस्याओं को प्राथमिकता क्रम में पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वच्छ जल एवं कोरवा बहुल क्षेत्रों के सड़कों को दुरुस्त करने के निर्देश संबंधित विभाग को दिए। जिला प्रशासन के द्वारा स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव डालने वाले तथ्यों को समझने की भी कोशिश की जा रही है जिससे इस प्रकार की घटना नहीं घटे।

बस्ती में लगाएं हैडपंप निराश्रित पेंशन दें:साय

रायगढ़ लोकसभा सांसद गोमती साय जशपुर जिले विकासखंड बगीचा अंतर्गत सरधापाठ क्षेत्र के पकरीटोली में पहाड़ी कोरवा की उल्टी दस्त से जनवरी 21 से लगातार हो रही मौत पर गुरुवार को पहाड़ी कोरवा के परिजनों से मुलाकात करने पहुंची और छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार द्वारा राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र संरक्षित जातिवर्ग कोरवाओं के इलाज के लिए क्या व्यवस्था की गई है, इसका जायजा भी लिया।

और जिला प्रशासन को आड़े हाथों लेते हुए प्रशासन को उनकी इलाज की व्यवस्था सुधारने के लिए निर्देशित किया। साथ ही पहाड़ी कोरवाओं की पानी के लिए हैंडपंप, व निराश्रित पेंशन की मांग पर जिला प्रशासन को तत्काल निर्देश देकर कार्यवाही करने कहा।

इस दौरे में उनके साथ जिला पंचायत अध्यक्ष रायमुनि भगत, जिला पंचायत उपाध्यक्ष उपेंद्र यादव, रीना भगत, जिला भाजपा उपाध्यक्ष मुकेश शर्मा, हरिशंकर यादव, जिला भाजपा उपाध्यक्ष शंकर गुप्ता, बगीचा मण्डल अध्यक्ष राम सलोनी मिश्रा, गेद बिहारी, जयशंकर यादव, सुभाष गोयल, अशोक यादव, कारमा राव मौजूद रहे ।

खबरें और भी हैं...