पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सीबीएसई:मार्कशीट में करवा सकेंगे सुधार ऑनलाइन ले सकते हैं नियमों की जानकारी

जशपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीबीएसई के रिजल्ट के बाद स्टूडेंट्स की मार्कशीट रिलीज कर दी गई है। कोरोना के चलते इस बार मूल्यांकन अलग तरह से हुआ और हर साल के मुकाबले रिजल्ट भी करीब 2 महीने देरी से आया। इस प्रक्रिया में बच्चों की मार्कशीट में गलतियां सामने आ रही हैं। ऐसे में बोर्ड ने उन्हें अपनी मार्कशीट को सही कराने का मौका दिया है। अमूमन गलतियां जन्मतिथि व नाम में नजर आई हैं। किस तरह बदलाव करवा सकते हैं मार्कशीट में- मार्कशीट में नाम बदलने पर बोर्ड का कहना है कि किसी भी तरह का बदलाव स्कूल के हेड के जरिए ही बोर्ड तक पहुंचाया जाएगा। जिसके बाद उम्मीदवारों के नाम या सरनेम में बदलाव के संबंध में आवेदनों पर विचार किया जा सकता है। बशर्तें परिवर्तन कानून के न्यायालय द्वारा स्वीकार किया गया हो। एपलीकेंट http://cbse.nic.in/faq/revised_dob_name_corr_rules_2015.pdf इस लिंक पर जाकर नियमों को पढ़ सकता है। गौरतलब है कि सीबीएसई ने जुलाई में क्लास 10वीं और क्लास 12वीं के रिजल्ट की घोषणा की थी। इस साल, कोरोना महामारी के कारण बोर्ड परीक्षाएं पूरी नहीं हो सकी थी और परिणाम के लिए एक नई मूल्यांकन योजना का पालन लिया था।

स्किल कोर्स के लिए अब 31 अगस्त तक आवेदन
सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने स्किल डेवलपमेंट कोर्स शुरू करने के लिए आवेदन की तिथि बढ़ा दी है। अब स्कूल प्रबंधन 2020-21 सत्र के लिए 31 अगस्त तक इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। स्किल कोर्स कक्षा 6वीं से 11वीं के लिए होगा। इसके लिए स्कूल को आवेदन पत्र भरकर बोर्ड को भेजना होगा। इसके बाद स्टूडेंट्स को कोर्स में प्रवेश दिया जाएगा। इसके अलावा बोर्ड ने कक्षा 10वीं में स्किल सब्जेक्ट से मेन सब्जेक्ट को बदलने की भी सुविधा दी है। बाेर्ड की नई सुविधा के मुताबिक, नए सत्र में कक्षा 12वीं में भी तीन मुख्य विषय में से अगर छात्र किसी एक विषय में फेल हो जाता है, तो वह अपने स्किल सब्जेक्ट से उसे बदल सकते हैं। 2020 के बोर्ड परीक्षा में यह सुविधा केवल 10वीं के स्टूडेंट्स को दी गई थी, लेकिन नए सत्र में बोर्ड 12वीं के छात्रों को भी यह सुविधा देगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें