पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए अब नियमित टीके:न्यूमोनिया से बचाने बच्चों के टीके मेें पीसीवी शामिल

जशपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

न्यूमोनिया से बचाव और शरीर में इसके प्रति प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने के लिए अब नियमित टीके में न्यूमोकोकल कंजुगेट वैक्सीन (पीसीवी) जुड़ गया है। शुक्रवार को जिला अस्पताल के टीकाकरण केन्द्र में जिला पंचायत सीईओ केएस मंडावी, सीएमएचओ डॉ. पी. सुथार, सिविल सर्जन डॉ. एफ खाखा सहित अन्य अधिकारियों की उपस्थिति में इस नए टीके का शुभारंभ किया। जिला अस्पताल के साथ-साथ सभी सीएचसी के टीकाकरण केन्द्रों में भी पीसीवी टीके की शुरुआत हो चुकी है। पहले यह टीका सरकारी अस्पतालों के नियमित टीके में शामिल नहीं था। पर अब यह टीका सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में नि:शुल्क लगना शुरू हो गया है।

क्या फायदा होगा इस टीके से
न्युमोकोकल न्यूमोनिया फेफड़ों का संक्रमण है, जिसमें बच्चे को सांस लेने में कठिनाई, पसलियों का चलना, बुखार, खांसी आदि होती है। यदि गंभीर हो, तो इससे बच्चे की मौत भी हो सकती है। न्यूमोकोकल न्यूमोनिया बीमारी सांस द्वारा (जैसे खांसी या छींकने के कारण) एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलती है। इस सभी परेशानियों से यह टीका बचाकर रखेगा।

2 साल तक के बच्चों को दी जाएगी तीन खुराक
नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के अंतर्गत बच्चों को पीसीवी की तीन खुराक 6 सप्ताह, 14 सप्ताह, और 9 महीने पर दी जाएगी। बच्चों को न्यूमोकोकल बीमारी से प्रभावी सुरक्षा के लिए यह सुनिश्चित करना होगा कि उन्हें सभी तीन खुराक मिलें। पीसीवी का टीका बच्चे के दाहिने मध्य-जांघ की मांस पेशी पर लगाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...