पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठक:नवरात्रि, दशहरा पर्व में भीड़ पर रोक, धरना प्रदर्शन, सार्वजनिक समारोह, धार्मिक कार्यक्रम, जुलूस के लिए लेनी होगी अनुमति

जशपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलेक्टर ने कहा: सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी, आदेश का उल्लंघन करने वालों पर होगी कार्यवाही

नवरात्रि और दशहरा पर्व में भीड़ भाड़ की स्थिति निर्मित होने की संभावना है। इसको देखते हुए कलेक्टर महादेव कावरे ने राजस्व अफसरों को सतर्क करने कहा है। कलेक्टर सभा कक्षा में हुई बैठक में कलेक्टर महादेव कावरे ने कहा कि कोई भी सार्वजनिक समारोह के आयोजन, भण्डारा, जुलूस, रैली, धरना प्रदर्शन आदि के लिए शासन से अनुमति लेना जरूरी होगा। उन्होंने कहा कि बिना अनुमति रैली भण्डारा करने वाले और जुलूस निकालने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की सुरक्षा को देखते हुए लोगों को सोशल डिस्टेंस का पालन करना जरूरी है। तथा नियंत्रण रखने के लिए सभी उपाय अमल में लाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि दशहरा और नवरात्रि के पर्व के लिए शासन के दिशा निर्देश जारी किया गया है। जिसका पालन करना सभी को अनिवार्य है। सोलर ऊर्जा पर आधारित मिनी नलजल योजना के लिए 89 करोड़ मंजूर- कलेक्टर ने कहा कि जिले में पीएचई विभाग अंतर्गत जलजीवन मिशन के तहत सोलर आधारित मिनी नलजल प्रदाय योजना के लिए 89 करोड़ के कार्यों को मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि योजना में ऐसे गांव जहां पानी की आवश्यकता है। वहां प्राथमिकता से पानी उपलब्ध कराया जाना है। इसके लिए सोलर आधारित सोलर पैनल से चिह्नांकित घरों तक पाइप लाइन के माध्यम से जल स्त्रोत पहुंचाया जाएगा।

नियम टूटने पर आयोजक पर होगी कार्रवाई
कलेक्टर ने कोरोना संक्रमण की सुरक्षा और नियंत्रण को देखते हुए कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्र में सामाजिक, अकादमिक खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक धार्मिक, राजनैतिक एवं अन्य कार्यक्रम आयोजन के लिए मानक संचालन प्रक्रिया एसओपी जारी की है। राज्य शासन द्वारा जारी मानक संचालक प्रक्रिया के तहत अनुविभागीय दण्डाधिकारी द्वारा अपने अनुभाग में निर्देशों के तहत सामाजिक अकादमिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनैतिक एवं अन्य कार्यक्रम आयोजन के लिए अनुमति देंगे। प्रक्रिया का उल्लंघन या अनुमति प्राप्त किए बगैर कार्यक्रम का आयोजन कराए जाने पर आयोजनकर्ता के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

31 तक होगा नए किसानों को पंजीयन
नए किसानों का पंजीयन 31 अक्टूबर तक किया जाएगा। इसकी जानकारी देने के लिए कलेक्टर ने ग्राम पंचायतों में कोटवारों के माध्यम से मुनादी कराने कहा है। ताकि कोई भी किसान पंजीयन से वंचित न होने पाए कलेक्टर ने नगरीय नजूल क्षेत्र के लंबित प्रकरण का निराकरण करने के लिए कहा है। साथ ही नगरीय क्षेत्र के आबादी और घासमद वाले प्रकरण को नजूल भूमि घोषित करने के लिए प्रस्ताव बनाकर जानकारी भेजने के निर्देश दिए है।

खबरें और भी हैं...