पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विकास कार्य:रनपुर सड़क व 3 हॉस्टल बनेंगे, वन विभाग की आपत्ति के कारण दमेरा रोड का निर्माण अटका

जशपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले के विकास कार्यों पर लगा ब्रेक, अब निर्माण दोबारा शुरू होने की उम्मीद

जशपुर और कुनकुरी वासियों के लिए सबसे ज्यादा जरूरी चरईडांड़ दमेरा सड़क का निर्माण अभी शुरू नहीं हो पाएगा। इस बार वन विभाग की आपत्ति के कारण सड़क के निर्माण कार्य पर ग्रहण लगा है। इसके अलावा विभाग द्वारा भेजा गया रिवाइज इस्टीमेट भी स्वीकृत नहीं हो पाया है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि वन विभाग की अपत्ति का निराकरण राज्य से होगा। क्योंकि सड़क निर्माण में वन क्षेत्र के करीब 6 हेक्टेयर भूमि जा रही है। डीएफओ को 1 हेक्टेयर तक में निर्माण की अनुमति देने का अधिकार है। इससे अधिक भूमि पर निर्माण की अनुमति राज्य स्तर से ही दी जाती है। जबतक वन विभाग की आपत्ति का निराकरण नहीं होता है तबतक रिवाइज इस्टीमेट की स्वीकृति भी नहीं मिलेगी। इस साल मार्च से ही निर्माण कार्य प्रभावित थे। मार्च से लेकर मई महीने तक लगातार लाॅकडाउन के कारण निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाए थे। इसके बाद जून महीने से बरसात के कारण निर्माण कार्यों पर ब्रेक सा लग गया था। जिले में पांच प्रमुख निर्माण होने बाकी है। जिसमें सड़क व हॉस्टल का निर्माण होना है। चरईडांड़ से दमेरा होते हुए जशपुर आने वाली सड़क जशपुर और कुनकुरी के लोगों की बहुप्रतिक्षित मांग है। इस सड़क के निर्माण की स्वीकृति वर्ष 2018 में मिली थी और उसी साल निर्माण भी शुरू हो गया था। पर कभी निर्माण कार्य की लेटलतीफी तो कभी अन्य किसी परेशानियों काे लेकर निर्माण कार्य प्रभावित रहा और अब दो साल बाद तक सड़क निर्माण को लेकर संशय बना हुआ है। जशपुर दमेरा सड़क इस वर्ष वर्तमान में दोपहिया वाहनों के चलने के लायक भी नहीं है। दमेरा सड़क से जशपुर से कुनकुरी की दूरी 15 किलोमीटर कम हो जाती है। जशपुर से कुनकुरी तक 42 किलोमीटर का सफर तय करना पड़ता है। इसमें लोरो घाट, लोरो दोफा व तपराटोली होते हुए लोग चरईडांड़ तक पहुंचते हैं, पर यदि दमेरा सड़क से चला जाए तो सीधे चरईडांड़ पहुंचते हैं। साथ ही सड़क पर ट्रैफिक भी नहीं होता है। जशपुर से बगीचा और अंबिकापुर जाने के लिए भी यह सड़क दूरी को बेहद कम कर देता है।

सवाल: वन क्षेत्र में पहले कैसे मिल गई फंड को मंजूरी
इस बार वन विभाग की आपत्ति के कारण काम बंद पड़ा है। यहां बड़ा सवाल यह खड़ा हो रहा है कि यदि सड़क की जमीन वन विभाग की है तो वर्ष 2018 में किसी तरह की आपत्ति क्यों नहीं लगाई गई। उस वक्त सड़क निर्माण के लिए 17 करोड़ 82 लाख की स्वीकृति क्या वन भूमि पर बगैर अनापत्ति के दे दी गई थी?

हर बार नई समस्या से अटक जाता है निर्माण
1- नक्सली धमकी -
जब निर्माण कार्य शुरू हुआ तो कथित नक्सली धमकी की बात कहकर ठेकेदार ने काम बंद कर दिया। उस दौरान करीब करीब आठ माह तक काम बंद रहा। मामले में जब पुलिस ने धमकी देने वालों को गिरफ्तार किया तो काम चालू हुआ।

2- कम पड़ गए पैसे - सड़क के लिए सरकार द्वारा आबंटित 17 करोड़ 84 लाख की राशि कम पड़ गई। घाटी पर सड़क निर्माण के लिए निर्माण एजेंसी को और पैसों की जरूरत है। इसलिए पीडब्लूडी विभाग द्वारा 23 करोड़ का रिवाइज इस्टीमेट तैयार कर स्वीकृति के लिए शासन को भेजा गया।

3- वन विभाग की आपत्ति - अब यह नई समस्या आ गई है। वन विभाग द्वारा आपत्ति लगाए जाने के कारण निर्माण नहीं हो पाएगा। वन विभाग की आपत्ति का निराकरण राज्य से होगा और इसके बाद रिवाइज इस्टीमेट की स्वीकृति हाेगी तब जाकर काम शुरू होगा।

बरसात खत्म, इन पांच निर्माण कार्यों में आएगी तेजी

  • कुनकुरी- कलिया-रनपुर सड़क 18 करोड़
  • 250 सीटर कन्या छात्रावास बघिमा 7 करोड़
  • 250 सीटर बालक छात्रावास डोंड़काचौरा 7 कराेड़
  • गम्हरिया में 100 सीटर पहाड़ी कोरवा आश्रम 3.5 करोड़

लोरो घाटी में उड़ रही धूल, वाहन चालक हो रहे परेशान
जशपुर से कुनकुरी जाने में एनएच 43 पर लोरो घाटी की हालत भी बेहद खराब है। 7 किलोमीटर की लोरो घाटी की सड़क को निर्माण कंपनी द्वारा चौड़ा करने के बाद खोदकर छोड़ दिया गया है। लगभग पूरी सड़क अब कच्चे रास्ते में तब्दील हो चुकी है। नेशनल हाइवे होने के कारण इस कच्ची घाटी मेें भारी वाहनों का आना-जाना लगा रहता है। बरसात में लोग इस घाटी में कीचड़ से परेशान थे और अब घाटी से उड़ रही धूल की गुबार से लोग परेशान हैं। दुर्घटना का डर भी हर वक्त बना हुआ है।

लॉकडाउन के कारण ज्यादा प्रभावित नहीं हुए काम ^लॉकडाउन के कारण कुछ महीने काम प्रभावित थे और बरसात के कारण कार्यों की गति कम थी। अब काम तेजी से होंगे। दमेरा सड़क में वन विभाग की आपत्ति के कारण अभी घाट का काम नहीं हो पाएगा। आपत्ति का निराकरण राज्य से होना है। इसके बाद उसमें रिवाइज इस्टीमेट की स्वीकृति मिलेगी। स्वीकृति के बाद घाट का काम हो पाएगा।'' केआर, दर्शयाम्कर, ईई, पीडब्ल्यूडी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें