तीसरी लहर को रोकने अलर्ट:बॉर्डर के बैरियर पर विदेश व दूसरे राज्यों से आने वाले हर व्यक्ति की होगी स्क्रीनिंग, कोविड जांच और वैक्सीनेशन

जशपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धान खरीदी केन्द्रोंं में लगाया जा रहा कोविड का टीका। - Dainik Bhaskar
धान खरीदी केन्द्रोंं में लगाया जा रहा कोविड का टीका।

कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए जिला प्रशासन अलर्ट हो चुका है। कलेक्टर रितेश अग्रवाल ने आदेश जारी करते हुए दूसरे जिले व राज्य की सीमाओं पर फिर से जांच शुरू करने को कहा है। अब दूसरे राज्य या विदेश से जिले में प्रवेश करने वालों की जांच सीमा बैरियर पर ही की जाएगी। यहां लोगों की स्क्रीनिंग, कोरोना जांच के साथ-साथ टीकाकरण की भी व्यवस्था होगी।

यदि किसी व्यक्ति ने कोरोना का एक भी टीका नहीं लगवाया है तो उसे चेकिंग प्वाइंट पर ही कोरोना का टीका भी लगाया जाएगा। दक्षिण अफ्रीका में फैले कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन के संक्रमण से जशपुर जिला को सुरक्षित रखने के लिए मंगलवार को कलेक्टर ने रिस्क वाले देशों से लौटने वालों के लिए भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए हैं।

इसके साथ ही सभी बीएमओ को आदेशित किया गया है कि वे पुलिस विभाग से समन्वय बनाकर सभी चेकपोस्ट पर विदेश व अन्य राज्य से आने वालों का स्क्रीनिंग, कोविड 19 जांच रिपोर्ट, टीकाकरण एवं जिले में आने के बाद उन्हें क्वारेंटाइन करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही स्वास्थ्य विभाग को विदेश से जिले में आने वाले व्यक्तियों की सूची रोजाना प्राप्त करने कहा है, जो व्यक्ति विदेश से लौटे हैं, उन्हें 7 दिन तक होम आइसोलेशन में रहने के बाद आठवें दिन उनकी आरटीपीसीआर जांच होगी और यदि रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो सैंपल जीनोम सिक्वेंनसिंग के लिए भेजा जाएगा।

कोविड बिहेवियर का कड़ाई से करना होगा पालन
बीते तीन महीनों से कोरोना के केस घटने के कारण लोगों में कोविड से बचाव के प्रति व्यवहार में कमी आई है। अधिकांश चेहरों से मास्क गायब हो गए हैं और शासकीय व निजी दफ्तर, स्कूल कॉलेज हर जगह बगैर मास्क के लोग पहुंच रहे हैं। जिन्हें रोकने-टोकने वाला कोई नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हर जगह खत्म हो चुका है और सैनेटाईजर आदि का उपयोग भी लोग भूल चुके हैं। पर अब कोिवड बिहेवियर को फिर से अपनाने का समय आ गया है। कलेक्टर ने कोविड बिहेवियर का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। खास तौर पर सरकारी दफ्तरों में अब बगैर मास्क के लोगों को एंट्री नहीं मिलेगी।

बॉर्डर पर बढ़ाई जाएगी जांच
कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए जिले में कोरोना की जांच भी बढ़ाई जाएगी। नए वैरियंट के लक्षणों का स्पष्ट पता नहीं चल पाया है। इसलिए विभिन्न शारीरिक परेशानियों में कोरोना की जांच कराई जाएगी। पुराने लक्षण जैसे सर्दी-खांसी व बुखार के मरीजों की भी कोरोना जांच की जाएगी। सभी जांच केन्द्रों में जांच बढ़ाए जाएंगे। जांच में 5 प्रतिशत जांच आरटीपीसीआर होंगे, क्योंकि नए वैरियंट की पहचान आरटीपीसीआर जांच में हो रही है।

खबरें और भी हैं...