पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सांसद गोमती साय को आवेदन देकर बताई थी समस्या:आबादी वाले इलाके से पोल्ट्री फार्म हटाने एसडीएम ने जारी किया आदेश

कोतबा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

विकासखंड फरसाबहार के तुमला थाना अंतर्गत गंझियाडीह में अस्पताल, विद्यालय, ग्राहक सेवा केंद्र एवं रिहायशी क्षेत्र में संचालित पोल्ट्री फार्म को हटाने के निर्देश एसडीएम ने जारी कर दिए हैं। आदेश के बाद भी यदि पोल्ट्री फार्म नहीं हटाए जाते हैं तो संचालकों के खिलाफ धारा 133 के तहत कार्यवाही की जाएगी।

गंझियाडीह निवासी इमरान खान ने वहां के उपस्वास्थ्य केंद्र, स्कूल, ग्राहक सेवा केंद्र एवं आबादी क्षेत्र में मुर्गा पोल्ट्री फार्म का संचालन किया जा रहा था, जिससे आ रही दुर्गंध को लेकर ग्रामीणों ने लिखित शिकायत की थी। अनुविभागीय अधिकारी राजस्व फरसाबहार को दिए गए आवेदन में लिखा गया था कि घनी आबादी के बीच पोल्ट्री फार्म खोला गया है, जिसके मल-मूत्र के दुर्गंध से लोगों का जीना मुश्किल हो गया है। इससे आम लोगों के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। इससे किसी भी समय महामारी फैल सकती है। चूंकि गर्मी में दुर्गध से महामारी फैलने की संभावना रहती है। इसलिए घनी आबादी के बीच मुर्गा फार्म बंद होना अवश्यक है। एसडीएम फरसाबहार द्वारा आदेश में मुर्गा फार्म मालिक को 10 दिवस के भीतर शीघ्र पोल्ट्री फार्म विवादित स्थल से हटाकर अन्यत्र खोलने का निर्देश दिया है। आदेश की प्रति अनुपालन कराने के लिए तुमला थाना को भी दिया गया है।

सांसद साय को ग्रामीणों ने दिया था आवेदन
गंझियाडीह ग्राम पंचायत के पंचों सहित गंझियाडीह में निवासियों ने सांसद गोमती साय को हस्ताक्षर कर आवेदन दिया था कि बस्ती के बीच संचालित पोल्ट्री फार्म को हटाया जाए। जिस पर श्रीमती साय ने ग्रामीणों को विश्वास दिलाया था कि इसपर जल्द कार्रवाई होगी।

खबरें और भी हैं...