धोखाधड़ी:ओटीपी पूछकर सात लाख की ठगी, विभिन्न तरीकों से हो रही है ऑनलाइन ठगी

जशपुरनगर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

आस्ता थाना क्षेत्र में ऑनलाइन ठगी का मामला सामने आया है। जहां अज्ञात आरोपी ने तलाेरा के फ्लोरेन्सियुस एक्का से माेबाइल पर अाए ओटीपी मांगकर 7 लाख की ठगी कर ली है। फ्लोरेन्सियुस एक्का ने शिकायत में बताया कि 13 मार्च को दोपहर को खेत में काम कर रहा था, उसी समय अज्ञात व्यक्ति का मोबाइल फोन आया कि आपका गूगल पे बंद हो गया है।

खाता चालू रखना चाहते हो ताे दस रुपए का रिचार्ज कराएं। दस रुपए रिचार्ज कराया तो मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी नंबर आया जिसे अज्ञात व्यक्ति द्वारा पूछे जाने पर भी नहीं बताया तो उसने ओटीपी नंबर को मोबाइल में डालने कहा। नंबर डालते ही खाते से 10 रुपए और मोबाइल रिचार्ज हो गया। उ

सके बाद भी बदमाश ने 6 बार ओटीपी नंबर पूछा और एचडीएफसी बैंक खाते से सात लाख रुपए निकाल लिए। मामले में आस्ता पुलिस जुर्म दर्ज कर जांच कर रही है। पुलिस के आधार क्षेत्र में आधार कार्ड से लिंक कराने, लोन पास कराने, क्रेडिट कार्ड दिलाने व कोविड वैक्सीन की बुकिंग के नाम पर ठगी की जा रही है।

वर्तमान में ऑनलाइन फ्राड करने वाले बदमाश बैंक व आधार कार्ड एजेंसी का कर्मी बनकर फोन कर रहे हैं। बता रहे हैं कि वे ईएमआई पर अस्थाई राहत का फायदा ले सकते हैं। कॉल असली लगे और कोई शक ना हो, इसके लिए साइबर ठग जन्मतिथि, आधार नंबर और अड्रेस जैसी जानकारियां वेरिफाई करने का बहाना करते हैं। जरूरी शर्तें व नियम के बारे में विस्तार से बताएंगे। सामने वाले को विश्वास में लेने के बाद मोबाइल में आए ओटीपी नंबर को पूछते हैं और खाते से रुपए पार कर देते हैं।

ऑनलाइन ठगी का मामला
आस्ता में ऑनलाइन ठगी का मामला आया है । आरोपियों की तलाश की जा रही है। मनी फ्रॉड के ऐसे मामलों में लोगों को सतर्क रहकर शिकायत करनी चाहिए। शिकायत जितनी जल्दी हाेने पर पुलिस तुरंत कार्यवाही कर रकम निकालने वाले तक पहुंच जाती है।''
ओमप्रकाश धुव्र, थाना प्रभारी आस्ता

खबरें और भी हैं...