आयोजन का शुभारंभ:पंच कल्याणक प्रतिष्ठा महा  महोत्सव और विश्व शांति महायज्ञ  के पांचवे दिन तप कल्याणक  क्रिया सम्पन्न

जशपुर नगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में सकल जैन समाज के तत्वावधान में चल रहे 6 दिवसीय पंच कल्याणक प्रतिष्ठा महा महोत्सव और विश्व शांति महायज्ञ के पांचवे दिन तप कल्याणक क्रिया सम्पन्न की गई। आयोजन का शुभारंभ सुबह 5 बजे श्रीजी की नित्य पूजा से हुआ। सुबह साढ़े 8 बजे भगवान नेमिनाथ की बाल्य क्रीड़ा के वर्णन के बाद आचार्य श्री 108 विशुद्ध सागर जी महाराज के परम प्रभावित शिष्य मुनि श्री 108 सुयश सागर और सद्भव सागर जी ने मंडी प्रांगण में निर्मित भव्य पंडाल में श्रद्घालुओं को प्रवचन दिया।

सुबह 10 बजे भगवान नेमिनाथ की बारात निकली। इसमें जैन समाज के युवाओं ने उत्साह पूर्वक भाग लिया। पारंपरिक परिधानों में सज कर निकले श्रद्धालु,शोभायात्रा आकर्षण का केंद्र रहे।भगवान नेमिनाथ के वैराग्य से पूर्व के जीवन का चित्रण करते हुए उनके राज दरबार और 32 हजार राजाओं से मुलाकात का सजीव वर्णन किया गया।

राजसी जीवन के बीच भगवान के वैराग्य की ओर प्रस्थान और दीक्षा की क्रियाओं ने श्रद्घालुओं को प्रभावित किया। इसके बाद आरती,गुरु भक्ति और मुनिश्री के प्रवचन के बाद भगवान नेमिनाथ के राजुल पर आधारित नृत्य नाटक की सजीव प्रस्तुति ने दर्शकों को भाव विभोर कर दिया। जशपुर जिले में जैन समाज के अब तक के सबसे बड़े धार्मिक आयोजन में गुरु की रात को कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया है। आयोजन समिति के मीडिया प्रभारी मनोज जैन ने बताया कि मुनि श्री के प्रवचन के बाद कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया है। इसमें देश भर के प्रख्यात कवि अपनी प्रस्तुति देंगे।

खबरें और भी हैं...