पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आतंक:दो हाथियों ने महिला को पटककर मारा, घंटों लाश के पास ही घूमते रहे

जशपुरएक दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शाम को वन विभाग ने बरामद किया शव, पोस्टमार्टम के बाद परिवार को सौपेंगे

कुनकुरी वन परिक्षेत्र के ग्राम लोटापानी के जंगल में एक महिला को दो हाथियों ने पटक-पटककर मार डाला। ग्रामीणों के मुताबिक हाथी काफी गुस्से में थे और घंटों महिला की लाश के पास बैठे रहे। जब हाथी लाश के पास से हटे तब जाकर वन विभाग ने ग्रामीणों के सहयोग से महिला की लाश बरामद की। कुनकुरी रेंजर सुरेन्द्र होता ने बताया कि घटना रविवार की दोपहर साढ़े 3 बजे की है। बोड़ोकछार के जंगल में 3 हाथियों का दल शनिवार-रविवार की रात को था। इस दल में से 2 हाथी वहां से निकलकर लोटापानी जंगल की ओर आ गए थे। रविवार को कुछ ग्रामीण जंगल के नीचे खेत में धान के खेत में काम कर रहे थे। इनमें से 55 वर्षीय मनप्यारी बाई पति महालाल सूखी लकड़ियां लेने के लिए जंगल चली गई। जंगल में करीब पांच सौ मीटर भीतर जाने के बाद उसका सामना दो हाथियों से हो गया। महिला हाथियों के रास्ते में आ गई। इससे पहले कि महिला कुछ कर पाती हाथियों ने उसे सूंढ़ से उठाकर पटकना शुरू कर दिया। महिला की चीख सुनकर खेत में काम कर रहे ग्रामीणों को पता चल गया कि महिला हाथियों के हमले की शिकार हो गई है। इस बीच गांव के उपसरपंच संजय पाण्डेय भी मौके पर पहुंच गए। उपसरपंच ने ग्रामीणों को जंगल की ओर जाने से रोके रखा। घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम भी मौके पर पहुंची। शाम को जब विभाग की टीम पहुंची तो हाथी महिला के लाश के पास ही खड़े थे। लाश उठाने के लिए हाथियों के लाश के पास से जाने का इंतजार करना पड़ा। करीब डेढ़ घंटे तक इंतजार के बाद हाथी मौके से दूसरी तरफ गए और जंगल से महिला की क्षत-विक्षत लाश को बरामद कर लिया गया और उसका पोस्टमार्टम कराने के लिए उसे हास्पिटल में ले गए।

पोस्टमार्टम के बाद आज परिजन को सौंपेंगे शव
हाथियों के लाश के पास से ना हटने के कारण लाश बरामद करने में वक्त लगा। महिला की लाश को टुकड़ों में बरामद किया गया है। इसे कुनकुरी अस्पताल की मरच्यूरी में रखा गया है। आज पोस्टमार्टम के बाद विभाग द्वारा शव परिवार वालों को सौंपा जाएगा और तात्कालिक सहायता राशि दी जाएगी।
खतरा देखकर आसपास के गांवों में कराई मुनादी
कुनकुरी रेंजर ने बताया कि घटना के बाद आसपास के सभी गांव में मुनादी करा दी गई है और किसी को भी जंगल ना जाने की सलाह दी गई है। घटना के बाद हाथी का व्यवहार देखकर लगा कि हाथी अभी और तबाही मचा सकते हैं। ऐसी स्थिति में ग्रामीणों को सावधान रहना जरूरी है।

36 हाथियों का दल जिले में
रविवार की स्थिति में जिले में 36 हाथियों का दल था, जिसमें तपकरा वन परिक्षेत्र में 7 जगहों पर 25 हाथी हैं। इसके अलावा कुनकुरी वन परिक्षेत्र में 3 हाथी विचरण कर रहे हैं। महिला को जिन हाथियों ने मारा है, वे बड़े दल से बिछड़े हुए बताए जा रहे हैं। इसके अलावा मनोरा और कांसाबेल क्षेत्र में भी हाथी विचरण कर रहे हैं। जशपुर शहर के पास सोगड़ा के जंगल में 1 हाथी रविवार को पहुंचा है। वनविभाग ने ग्रामीणों को जंगल में नहीं जाने के लिए कहा है। गांव में भी उन्हें सचेत रहने के लिए कहा गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें