पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई:कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन, जांच के लिए बुलाया था 52 आंबा कार्यकर्ताओं को

जशपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आंबा संघ ने कलेक्टर से की शिकायत।

महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला अधिकारी विस्मिता पाटले के खिलाफ शिकायत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ ने कलेक्टर से की है। संघ का आरोप है कि मामले की जांच के लिए जिला अधिकारी द्वारा लॉकडाउन के दौरान आस्ता सेक्टर से 52 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बुलाया गया था। उस वक्त गाड़ियां बंद थी और कार्यकर्ताओं को गाड़ी बुककर अपने पैसे से जिला अधिकारी के पास आना पड़ा था, पर अब इन कार्यकर्ताओं को यात्रा भत्ता नहीं दिया जा रहा है। कलेक्टर से हुई शिकायत में संघ की जिलाध्यक्ष यशोमति बाई, सचिव हेमा पाठक सहित सहित अन्य पदाधिकारियों ने कहा कि आस्ता के परियोजना अधिकारी उमाशंकर गुप्ता की शिकायत की जांच के लिए महिला एवं बाल विकास अधिकारी विस्मिता पाटले को जांच अधिकारी बनाया था। 31 अगस्त को विस्मिता पाटले ने आस्ता परियाेजना के 52 कार्यकर्ताओं को जिला कार्यालय बुलाकर मीटिंग हाल में उनका बयान लिया। इस बुलावे के चक्कर में सभी कार्यकर्ताओं को अपने पैसे से वाहन बुक कर आस्ता से जशपुर आना पड़ा था। इससे वेतनभोगी कार्यकर्ताओं को आर्थिक नुकसान हुआ है। इसी दिन जिला कार्यालय के कम्प्यूटर ऑपरेटर और भृत्य की कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई और 1 से 6 सितंबर तक जिला कार्यालय बंद था। कोरोना के संक्रमणकाल में इतनी अधिक संख्या में कार्यकर्ताओं को बुलाना कोरेना प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया गया। संघ की ओर से विस्मिता पाटले के विरूद्ध कार्रवाई की मांग की गई थी। मामले में किसी तरह की कार्रवाई नहीं होने पर संघ द्वारा मामले की दुबारा शिकायत 9 सितंबर को कलेक्टर से की थी।

जांच अधिकारी नियुक्त नहीं फिर भी जारी किया नोटिस
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ के संरक्षक सोहन राम भगत ने बताया कि मामले में अभी तक कलेक्टर की ओर से जांच अधिकारी नियुक्त नहीं किया है। इसके बावजूद जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी द्वारा संघ के पदाधिकारियों को नोटिस जारी कर तीन दिनों में जवाब मांगा है। मौखिक रूप से भी अधिकारी संघ के पदाधिकारियों के ऊपर कई तरह से दबाव बना रही हैं। यदि मामले में अधिकारी अपने पद का दुरूपयोग करते हुए कोई कार्रवाई करते हैं तो संघ आंदोलन करेगा।

शिकायत की हो रही जांच
"मामले की जांच की जा रही है। जिला अधिकारी द्वारा यह बताया गया है कि उनके द्वारा जांच के लिए सिर्फ 4 कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है। मामले में संघ को भी अपना पक्ष रखने के लिए पत्र जारी किया है।''
-अजय शर्मा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग।

खबरें और भी हैं...