व्रत सावित्री पूजा / सोशल डिस्टेेंसिंग के साथ महिलाओं ने की वट पूजा

Women worship Vat with social distancing
X
Women worship Vat with social distancing

  • संक्रमण के खतरे पर आस्था भारी, रीति-रिवाज से की पूजा-अर्चना
  • शहर में 20 से अधिक स्थानों पर महिलाओं ने निर्जला व्रत रखकर की पति की लंबी उम्र की कामना

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

जशपुर. शुक्रवार को वट सावित्री पर्व के मौके पर सुहागिनों ने निर्जला व्रत रखकर पति की लंबी उम्र की कामना की। सुहागिनों ने पूजा कर वट वृक्ष की परिक्रमा की। उन्होंने श्रृंगार सामग्रियों का दान भी किया। वट सावित्री की पूजा में कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे का साया भी नजर अाया,जिसके कारण महिलाएं इस बार एक साथ वट सावित्री की कथा नहीं सुन पाई। जो महिलाएं अपने घरांे में गमले में लगे बरगद की पूजा की और खुद ही कथा को पढ़ा।
हिंदू धर्म में विवाहिताएं पति को परमेश्वर का दर्जा देती हैं। साल में कई व्रत व त्योहार हैं, जिनमें महिलाएं अपने पति की लंबी आयु एवं उनकी उन्नति के लिए व्रत रखती हैं। इन त्योहारों में वट सावित्री का महत्व सबसे ज्यादा है। शुक्रवार को सुबह से ही घरों-मोहल्लों के आसपास वट वृक्ष के पास सुहागिनें पहुंचने लगीं थीं। सोलह श्रृंगार कर एवं हाथ में पूजा की थाली लेकर बड़ी संख्या में महिलाओं ने पूजा-अर्चना की। वट वृक्ष की विधिवत पूजा करने के बाद वृक्ष में कच्चे धागे बांधे गए। साथ ही सुहागिनों ने पति पति की लंबी उम्र की कामना की। लंबी आयु की कामना करते हुए सुहागिनों ने वट वृक्ष की परिक्रमा भी की। सुबह होते ही शहर के विभिन्न स्थानों में स्थित वट वृक्ष के नीचे ही व्रतधारी महिलाएं पहुंचने लगी थी। शहर के करीब 20 से 25 स्थानों में सुहागिनें विधि-विधान के साथ वट सावित्री का पूजा की। 
वट वृक्ष की परिक्रमा कर सुहागिनों ने सुनी कथा
शुक्रवार को जिले के शहर सहित ग्रामीण इलाकों में यह पूजा हुई। मान्यतानुसार वट सावित्री की पूजा बरगद की छांव तले सुहागिन महिलाओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए की।  सुहागिन महिलाएं शुक्रवार सुबह से ही सज धज कर सोलह श्रृंगार करके वट वृक्ष के चारों ओर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सात फेरे ली और पति की लंबी उम्र की कामना की। सावित्री सत्यवान की पौराणिक कथा का श्रवण कर सुहागिनें अपने सुहाग की सलामती के लिए भगवान से प्रार्थना की। इसके साथ ही पूजा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान पूरी तरह रखा गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना